February 26, 2024

रोडवेज की आय बढ़ाने का किया जाएगा प्रयास
इस वर्ष गड़बड़ाया रोडवेजकर्मियों का वेतन
बीकानेर।
पहले से घाटे से जूझ रहे रोडवेज की आय इस वर्ष काफी कमी आई। इसको देखते हुए रोडवेज की ओर से आय बढ़ोत्तरी के लिए कई जतन किए लेकिन प्रयास असफल रहा। इस वर्ष प्रदेशभर में रोडवेज के हालातों को देखते हुए उच्च प्रबंधन की ओर से मुख्यालय में कई बार वार्ता कर अधिकारियों को यात्रीभार को बढ़ाने के लिए निर्देश भी दिए गए। इन बैठकों में यात्री को बढ़ाने एवं डीजल की खपत कम करने के लिए कई सुझावों पर चर्चा की गई। गौरतलब है कि इस वर्ष पहले से ही घाटे में चल रहे रोडवेज को अधिक नुकसान उठाना पड़ा। जिसका मुख्य आधार अवैध रूप से चल रहे निजी वाहन एवं लोक परिवहन सेवा माना जा रहा है।
वाहनों से प्रतिस्पद्र्धा
रोडवेज को सबसे अधिक प्रतिस्पद्र्धा अवैध रूप से चल रहे वाहनों से मिल रही है। जिससे रोडवेज की आय को अधिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं इसके साथ-साथ लोक परिवहन सेवा व निजी बसों का अधिकांश तौर रोडवेज की आय पर प्रभाव पड़ रहा है। इसके लिए कई बार मुख्यालयों में बैठकों के दौरान चिंता जताई वहीं इनसे निपटने के लिए योजनायें भी तैयार की गई लेकिन वह बेअसर रही।
कई ग्रामीण रूट हुए बंद
रोडवेज के घाटे व यात्रीभार को देखते हुए रोडवेज की ओर से बीकानेर व इसके आसपास के क्षेत्र में आने वाले रूटों पर से रोडवेज बसों का संचालन बंद किया गया। वहीं कई रूटों पर चल रही बसों की संख्या को भी आधा किया गया।
वेतन को तरसते रोडवेजकर्मी
रोडवेज कर्मचारियों व पेंशनधारियों को इस वर्ष वेतन के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। रोडवेज की आय में होने वाले घाटे का खामियाजा रोडवेजकर्मियों को भुगतना पड़ा। इसके लिए कई बार रोडवेजकर्मियों की ओर से सड़कों पर उतरकर आंदोलन किया गया।
इनका कहना है
रोडवेज प्रबंधन की ओर से अब यात्रीभार को बढ़ाने के लिए विशेष रूप से योजनाबद्ध तरीके से प्रयास किए जायेंगे। जिससे फिर से रोडवेज की स्थिति में सुधार आ सके।
रवि सोनी
रोडवेज प्रबंधक, बीकानेर