May 21, 2024

नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस की 21 बोगियां पटरी से उतरीं,कई खेतों में जा गिरे,4 की मौत,100 घायल
बिहार के बक्सर से आ रही नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस ट्रेन देर रात हादसे का शिकार हो गई है। ट्रेन की 21 बोगियां बेपटरी होते हुए खेत में जा गिरी। हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई। इस हादसे में अब तक 4 यात्रियों की मौत हो चुकी है। वहीं, 100 से ज्यादा यात्री घायल बताए जा रहे है। ट्रेन हादसे के कारण यूपी-बिहार-बंगाल रूट की डेढ़ दर्जन ट्रेनें रद्द कर दी गई है। वहीं, कई ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया गया है।
ट्रेन हादसे के बाद गुरुवार तड़के केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लिया। केंद्रीय मंत्री चौबे ने कहा मुझे जैसे ही इसकी खबर मिली मैंने तुरंत रेल मंत्री, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, बिहार के मुख्य सचिव और जिलाधिकारी को सूचना दी। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं लोगों से अपील करुंगा की वे बड़ी संख्या आएं और पीड़ित लोगों की मदद करें। इस घटना के कारण का पताया लगाया जा रहा है।
4 यात्रियों की मौत, 100 से ज्यादा घायल
पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ वीरेंद्र कुमार के मुताबिक ट्रेन हादसा बक्सर जिला के रघुनाथपुर रेलवे स्टेशन के पास रात करीब 9.35 बजे हुआ है। जैसे ही यह ट्रेन बक्सर से रघुनाथपुर पहुंच रही थीं, वैसे ही ट्रेन की 21 बोगियां पटरी से उतर गई और ट्रेन की कई बोगियां बेपटरी होकर खेत में जा गिरी है। इस हादसे में अब तक 4 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। वहीं, 100 से ज्यादा लोग घायल हुए है। जिनका अलग- अलग अस्पतालों में उपचार जारी है। दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन के यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है।
रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म, हादसे की जांच जारी
हादसे के बाद एनडीआरएफ, एसडीआरएफ के साथ स्थानीय लोगों ने भी बोगियों में फंसे लोगों को निकालने में मदद की। करीब चार घंटे बाद रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो गया। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रात दो बजे ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। रेल मंत्री ने कहा है कि इसकी वजह का पता लगाने के लिए जांच चल रही है। हादसा कैसे हुआ, नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस की बोगियां पटरी से कैसे उतरीं, इसका अभी तक पता नहीं चल पाया। रेलवे अधिकारियों को हादसे की जांच के आदेश दे दिए है।