May 28, 2024

हैदराबाद। कैंसर जैसी घातक बीमारी से जूझ रहे ६ साल के इशान को जब रचकोंडा पुलिस आयुक्त के पद पर घोषित कर कुर्सी पर बिठाया तो इस खबर मिलते ही हर शख्स हैरान रह गया। हैदराबाद पुलिस की ओर से छह साल के बच्चे की इच्छा पूरी करनेे के लिए यह कदम उठाया है। खाकी वर्दी पहने, और हाथ में बैटन (पुलिस की छड़ी) लिए छह साल के दूदकला ईशान जब रचाकोंडा पुलिस आयुक्त के ऑफिस पहुंचे तो उनका औपचारिक स्वागत हुआ। ईशान ने भी बैटन उठाकर और सलामी देते हुए इसे स्वीकार किया। ईशान ने पदभार संभालते ही कामकाम की जांच-पड़ताल की। दरअसल 6 साल के इशान कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। वह पुलिस कमिश्नर बनना चाहते हैं ऐसे में एक एनजीओ की मदद से रचाकोंडा पुलिस आयुक्त ने ईशान की इच्छा पूरी करने का मन बनाया और एक दिन के लिए पुलिस आयुक्त के रूप में नियुक्त किया।
पदभार संभालते ही ईशान ने कहा, ‘मैं शहर में महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्चित करना चाहता हूं और इसके लिए आदेश भी दिए हैं। हम अपनी फोर्स में शी टीम के सदस्यों की संख्या बढ़ाएंगे।Ó
एनजीओ ने की थी पुलिस कमिश्नर से बात
10 दिन पहले ही एनजीओ मेक अ विश फाउंडेशन ने रचनाकोंडा पुलिस आयुक्त महेश भागवत को मेडक जिले के कंचनपल्ली निवासी ईशान की इच्छा के बारे में बताया था। भागवत ने कहा, ‘मेरे पास उसकी स्थिति को बयां करने के लिए शब्द नहीं है। वह एक जानलेवा बीमारी से जूझ रहा है और मैं उम्मीद करता हूं कि वह जल्द ही ठीक हो जाए ताकि एक दिन वह पुलिस में तैनात हो जाए।Ó
उन्होंने आगे कहा, ‘हम उसका शारीरिक रूप से इलाज नहीं कर सकते लेकिन उसके सपनों को जरूर पूरा कर सकते हैं।Ó भागवत मीडियाकर्मियों को जब यह बता रहे थे उस दौरान ईशान ऑफिस का दौरा कर रहे थे, अपने आस-पास मौजूद ऑफिसर्स से पूछताछ कर रहे थे और हाथ मिला रहे थे। उनके पीछे कैमरों की भीड़ थी।