May 21, 2024

जयपुर। साल 2017 में हुए कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल सिंह एनकाउंटर के मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है। जांच के दौरान सीबीआई ने तीन मामले दर्ज किए हैं। राजस्थान सरकार ने गृह मंत्रालय को इस मामले की सीबीआई जांच के लिए लिखा था। इसके बाद सीबीआई ने तीन विभिन्न मामलों में केस दर्ज किए हैं। इनमें पहला मामला आनंदपाल के एनकाउंटर, दूसरा मामला सांवराद में सभा के दौरान के सुरेंद्र सिंह मौत और तीसरा मामला सांवराद में 13 जुलाई को हुए उपद्रव को लेकर राजपूत नेताओं पर दर्ज मामलों की जांच का है। हालांकि बड़ी बात यह है कि सीबीआई ने आनंदपाल के एनकाउंटर को फर्जी बताए जाने को लेकर कोई एफआईआर दर्ज नहीं की है। जानकारी के अनुसार सीबीआई द्वारा दर्ज की गई तीन एफआईआर में सबसे पहले दंगा भड़काने, गैर कानूनी तरीके से भीड़ को जमा करने और अपहरण का प्रयास करने के आरोप में सीबीआई ने राजपूत नेताओं जिनमें सुखदेव सिंंह गोगामेड़ी, हनुमान सिंह खंगाता,महिपाल मकराना और आंनदपाल की बेटी चीनू और उनके वकील पर केस दर्ज किया है। इनके साथ साथ सीबीआई ने करीब 10 हजार से ज्यादा अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। इसके अलावा सीबीआई ने स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के एसपी करण शर्मा द्वारा एनकाउंटर के बाद रतनगढ़ थाने में गैंगस्टर आनंदपाल सिंह समेत 8 लोगों पर सरकारी कर्मचारियों पर हमला करने और गैर कानूनी तरीके से एक अपराधी को छुपाने के मामले में दर्ज एफआईआर का मामला अपने यहां दर्ज किया है।