May 28, 2024

बज्जू में राजस्व रिकॉर्ड बाधित होने से ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा खामियाजा
बीकानेर। राजस्व विभाग यहां कर्मचारियों की कमी से जूझ रहा है। हालात यह है कि पटवारियों के आधे पद वर्षों से रिक्त है तो कानूनगो के पद भी रिक्त होने से कामकाज प्रभावित हो रहा है। बज्जू मंडल में स्थिति यह है कि एक पटवारी के पास तीन-तीन पटवार मंडलों का काम है। इससे पटवारी काम के बोझ तले दबे है तो ग्रामीणों के कार्य नहीं होने से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रिक्त पदों को लेकर सरकार ने सूचना तो कई बार मांगी लेकिन पद अब तक नही भरे गए। बज्जू उपतहसीलदार रामेश्वर सिंह के अनुसार यहां पर 20 पटवार मंडल है। जहां प्रत्येक मंडल के अनुसार एक-एक पटवारी होना चाहिए लेकिन यहां स्थिति इसके विपरीत है। यहां एक पटवारी को तीन-तीन मंडल का कार्यभार है। इनमें भी 80 से 125 चक एक-एक पटवारी के अधीन है। कई बार पटवारी अवकाश पर चला जाए तो हालात विकट बन जाते हैं। पटवारियों की सेवानिवृत्ति, स्थानान्तरण व पद नही भरने से क्षेत्र में मात्र 12 पटवारी करीब 700 से अधिक चकों व 86 गांवों का काम काज संभाले हैं तो एक गिरदावर का पद भी रिक्त है। विभाग में सबसे महत्वपूर्ण पद कानूनगों का पद भी रिक्त होने से आमजन को अर्से से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो कानूनगों का पद गिरदावर को देने से भी कार्य भार बढा है।
गांवों में ये काम हो रहे प्रभावित
पटवारियों की कमी से नक्शा ट्रेस, जमाबंदी, नकल, नामांतकरण आदि कार्यो पर असर पड़ रहा है। सरकार की डिजीटल इंडिया लैंड रिकार्ड मॉर्डनाइजेशन कार्यक्रम पर भी असर आ रहा है। इसके तहत पटवारी जमाबंदी का विभाजन कर रहे हैं। वहीं नक्शा तरमीम के कार्य भी बाधित हो रहे हैं। वही ग्रामीणों को भी यह पता नहीं लग पाता कि किस दिन पटवारी किस क्षेत्र का कार्य करेगा और कौनसा पटवारी उसके क्षेत्र का है। ऐसे में काम को लेकर लोग भटकने को मजबूर है। उपनिवेशन तहसील के राजस्व में विलय के बाद बड़ी मात्रा में दस्तावेज के बंडल राजस्व तहसील के अधीन आ गए। इन दिनों राजस्व तहसील में भवन की कमी के चलते कागजों के बंडल सही तरीके से रखने में कर्मचारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।