March 5, 2024

नगर निगम के पास नहीं है इस समस्या का निवारण
बीकानेर।
शहर में पिछले लम्बे समय से चली आ रही निराश्रित गौवंश के लिए गौशाला निर्माण के मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। हालांकि कुछ समय पूर्व में भी इस मामले को लेकर उपमहापौर व पार्षदों के दल ने आंदोलन का रास्ता अपनाया लेकिन इस दौरान कुछ राजनैतिक दबाव व आश्वासन के बाद आंदोलन वहीं थम गया। जानकारी में रहे निराश्रित गौवंश के संरक्षण के लिए गौशाला निर्माण की मांग पर फिर से भाजपा पार्षदों की ओर से सत्याग्रह आंदोलन शुरू कर दिया गया है। जिसके तहत् कल से शुरू अनशन आज दूसरे दिन भी जारी रहा। जिसमें आज पार्षद भगवती प्रसाद गौड, जगदीश मोदी, राजेन्द्रसिंह, श्याम चांडक व बलि व्यास अनशन पर बैठे है। इस दौरान पार्षद भगवती प्रसाद गौड ने बताया कि नगर निगम महापौर व अधिकारियों के बीच आपसी सामंजस्य नहीं होने के कारण शहर में विभिन्न समस्यायें स्वयं ही उत्पन्न होती चली जा रही है। जिससे आमजनता को बेहद नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि शहर में मुख्य बाजारों से लेकर गलियारों तक आवारा पशुओं का आंतक बना हुआ है। शहर से बाहरी क्षेत्र में गोचर भूमि में गौशाला निर्माण के लिए निगम की ओर से ढिलाई बरती जा रही है। कभी फण्ड तो कभी भूखण्ड के नाम पर टालमटोल किया जा रहा है। वहीं ३ माह के समय देने के बाद ६ माह बीत चुके है और इस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। पार्षद राजेन्द्रशर्मा ने बताया कि समय रहते इस मांग पर कोई कार्रवाई नहीं की गई तो उग्र आंदोलन पर मजबूर होना पड़ेगा।