May 28, 2024

बीकानेर से लेकर जयपुर पुलिस मुख्यालय तक गूंज रहा है खाकी की बदनामी से जुड़ा मामला
बीकानेर। महाजन थाने की जैतपुर पुलिस चौकी में रिश्वतखोरी की आड़ में चल रहा अश£ीलता का खेल उजागर होने के बाद अभी तक यह खुलासा नहीं हो पाया है कि वह युवति कौन थी, जिसके साथ अश£ील फोटों खींच कर हैड कांस्टेबल शिवराम मीणा, कांस्टेबल राकेश कुमार स्वामी व कांस्टेबल देवीलाल मेघवाल परिवादी मुकेश कुमार जाट को ब्लैकमेलिंग का शिकार बनाकर रिश्वत वसूल रहे थे,अभी तक युवति के बारे में पुख्ता तौर पर कोई जानकारी नहीं मिल पायी है,लेकिन सूत्रों ने बताया है कि संदिग्ध आचरण वाली एक युवति का जैतपुर पुलिस चौकी में अमूमन आना जाना था और उसके साथ पुलिस चौकी में अश£ीलता का खेल काफी समय से चल रहा था। हालांकि पुलिस की बदनामी से जुड़ा मामला होने के कारण जिला पुलिस के अधिकारी इस मामले में किसी प्रकार की जानकारी देने से बच रहे हे। इधर भष्ट्राचार निरोधक ब्यूरों के जांच अधिकारी यह पता लगाने के प्रयास में जुटे है कि अश£ीलता के खेल में पुलिस कर्मियों के साथ युवित कौन है,कहां कि रहने वाली है और तीनों पुलिस कर्मियों के साथ उसके क्या संबंध है। इस बीच ब्यूरों के अतिरिक्त पुलिस ने अधीक्षक ने सोमवार सुबह तीनों आरोपी पुलिस कर्मियों को बीकानेर जिला भ्रष्टाचार निवारण अदालत में पेश किया।
जानकारी में रहे कि जैतपुर पुलिस चौकी के हैड कांस्टेबल और दो सिपाहियों को दस हजार रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया था। तीनों पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि उन्होंने पहले एक महिला के साथ परिवादी के अश्लील फोटो खींच लिए और बाद में मामले को रफा-दफा करने के लिए पचास हजार रुपए की रिश्वत मांगी। इसकी रिपोर्ट पर मिलने पर श्रीगंगानगर की एसीबी टीम ने कार्यवाही कर ने आरोपितों के कब्जे से रिश्वत की राशि व फोटो आदि जब्त कर लिये। इस मामले में श्रीगंगानगर जिले के गांव उदयपुर गोदारान (सूरतगढ़) निवासी मुकेश कुमार जाट ने 24 दिसम्बर को रिपोर्ट दी थी। मुकेश ने बताया कि जैतपुर पुलिस चौकी के हैड कांस्टेबल शिवराम मीणा, कांस्टेबल राकेश कुमार स्वामी व कांस्टेबल देवीलाल मेघवाल ने बताया कि 22 दिसम्बर की रात को करीब एक बजे वह दोस्त पवन कुमार के साथ मोटरसाइकिल पर पल्लू जा रहा था। तभी एक निजी कार में सवार तीनों आरोपितों ने उन्हें रोक लिया व चौकी में लाकर एक महिला के साथ कपड़े उतारकर फोटो खींच लिए। साथ ही बाइक भी जब्त कर ली और उसके 10 हजार रुपए भी ले लिए। बाद में पुलिसकर्मियों ने कार्रवाई नहीं करने व बाइक छोडऩे के लिए 50 हजार की रिश्वत मांगी। खाकी को शर्मसार कर देने वाला जैतपुर पुलिस चौकी से जुड़ा यह मामला बीकानेर से लेकर जयपुर मुख्यालय पुलिस हल्कों तक चर्चाओं का विषय बना हुआ है।