February 25, 2024

मामला दर्ज होने पर जांच कार्यवाही में जुटी कोटगेट पुलिस
बीकानेर। बल्लभ गार्डन की एक व्यवसायी महिला को बारानी खेत की सौदेबाजी के जाल में फंसा कर उससे चालीस लाख रूपये की धोखाधड़ी कर सौदेबाजी का खेत को किन्ही ओर लोगों को बेच दिये जाने का मामला श्रीडूंगरगढ के आठ जनों के खिलाफ कोटगेट पुलिस थाने में दर्ज हुआ है। जरिये अदालती इस्तगासे के तहत बल्लभ गॉर्डन निवासी श्रीमति रेखा खत्री पत्नि प्रेमरतन खत्री की ओर से दर्ज कराये गये धोखाधड़ी के इस संगीन मामले में पीडि़ता ने बताया है कि १९ जुलाई २०१४ में तोलाराम पुत्र पेमाराम जाट ने बड़ा गुंसाईसर में २२.२७ हैक्टयर बारानी खेत की बेचवानी का सौदा ४२ लाख रूपये में किया था,इसकी एवज में ४० लाख रूपये पेशगी के तौर पर वसूल कर इकरारनामा लिख कर दे दिया तथा शेष रकम दो लाख रूपये सालभर बाद देने की लिखापढी के तहत खेत की रजिस्ट्री मेरे नाम कराने की शर्त मुकर्रर हुई थी। सौदेबाजी के दौरान बतौर गवाह पीपी एग्रो का संचालक चतराराम जाट पुत्र आसूराम भी मौजूद था। पीडि़ता ने बताया कि मेरे साथ खेत की सौदेबाजी के बाद अमराराम और चतराराम के मन में खोट आ गई और इन्होने मेरे साथ हुई सौदेबाजी के बारानी खेत को किन्ही ओर लोगों को बेच दिया तथा मेरे चालीस लाख रूपये भी हड़प गये। पीडि़ता और उसका पति ने जब अपनी रकम वापिस मंागी तो आरोपियों ने डरा धमका कर भगा दिया। थाना प्रभारी महेन्द्र दत्त शर्मा ने बताया जरिये अदालती इस्तगासे के तहत दर्ज इस मामाले में अमराराम पुत्र पेमाराम, चतराराम पुत्र आसूराम, हेमराज पुत्र जोरमल ओसवाल, विजय पुत्र मेघराज, मोहनलाल पुत्र बंशीधर नाई, डूंगरराम पुत्र मालूराम, बीरबल राम पुत्र पुरखाराम जाट, नौंरेगराम पुत्र हुकुमाराम जाट को नामजद कर जांच पड़ताल शुरू की है। थाना प्रभारी ने कहा कि इस मामले में साक्ष्य सबूतों के आधार पर जांच कार्यवाही कर दोषी पाये जाने में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी कर उन्हे सलाखों के पीछे पहुंचाया जायेगा।