May 21, 2024

जवानों के साथ सभी अफसर भी करेंगे सीमा क्षेत्र का रुख
बीकानेर। हाड़ कम्पाने वाली सर्दी की रातों में सीमा पार से घुसपैठ जैसी अवांछनीय गतिविधियों के बढ़े खतरे के बीच सीमा सुरक्षा बल आगामी 12 जनवरी से ‘ऑपरेशन सर्द हवाÓ प्रारंभ करने जा रहा है। प्रतिवर्ष कड़ाके की सर्दी में होने वाले इस अभियान में बल अपनी पूरी ताकत को सीमा क्षेत्र में जमा करने वाला है। यह अभियान 30 जनवरी तक चलेगा। सर्दी के साथ-साथ गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी तरह की गड़बड़ी की रोकथाम के लिए ऑपरेशन सर्द हवा का संचालन किया जाता है। सीमा के उस पार से घुसपैठिया अथवा तस्करी करने में लिप्त तत्वों पर नकेल कसने के मुख्य उद्देश्य के अलावा इस ऑपरेशन के जरिए सीसुब अपनी तैयारियों को भी परखता है।अभियान के दौरान बल के आला अधिकारी निरीक्षण करने भी सीमा क्षेत्र में पहुंचेंगे। जानकारी में रहे कि पाकिस्तान से सटे जिले के सीमा क्षेत्र में इन दिनों कड़ाके की ठंड का कहर कायम है,अल सुबह और रात के समय यहां तापमान शून्य डिग्री के स्तर तक पहुंच जाता है। उस पर आए दिन छाया रहने वाला कोहरा भी बल के जवानों की परीक्षा लेता है। ऐसे समय में ऑपरेशन सर्द हवा का संचालन हो रहा है। जिससे सीमा पर चौकसी के लिए नफरी बढ़ जाएगी और सीसुब के अधिकारी भी हैड क्वार्टर तथा बटालियन मुख्यालयों से निकलकर सीमा क्षेत्र में पहुंचेंगे।सारे संसाधन सीमा परजानकारी के अनुसार ऑपरेशन के तहत सीसुब के अधिकांश जवानों को अंतरराष्ट्रीय सीमा क्षेत्र में तैनात किया जाएगा। वे दिन-रात गश्त करेंगे। इसके अलावा बल के अधिकारी भी पेट्रोलिंग बढ़ाएंगे। ऊंटों पर गश्त के अलावा फोर व्हील वाहनों से सीमा क्षेत्र में पेट्रोलिंग की जाएगी। कोहरे की धुंध में भी साफ देखने की क्षमता रखने वाली दूरबीन तथा अन्य उपकरण बल के प्रहरियों की सहायता करेंगे। एक तरह से सीमा सुरक्षा बल अभियान अवधि में 19 दिनों तक अपने सारे संसाधन सीमा क्षेत्र में चौकसी के लिए झोंक देगा।