February 22, 2024

8 लाख नहीं लौटाए तो बीएसएफ जवान फंदे पर लटका : सुसाइड नोट में लिखा- 4 साल होने जा रहे हैं, पैसे लेने वाले दोनों पर कार्रवाई करवाना

चूरू। छुट्टी पर घर आए BSF के जवान ने खेत में सुसाइड कर लिया। उसका शव उसके खेत में खेजड़ी के पेड़ से लटका मिला। जवान ने खेत से भतीजे को फोन किया था। बताया था कि मेरा दम घुट रहा है। परिवार वालों ने खेत में जाकर देखा तो वह खेजड़ी के पेड़ से लटका मिला। उसकी जेब से सुसाइड नोट भी मिला है। उसमें लिखा है- 4 साल होने जा रहे हैं। दो लोगों ने मेरे पैसे लेकर नहीं लौटाए हैं। उनपर कार्रवाई जरूर करवाना। मामला चूरू जिले के रतननगर का है।

एक महीने पहले आए थे छुट्‌टी पर
रतननगर थाना क्षेत्र के कुणसीसर गांव के रहने वाले विनोद कुमार सैनी (35) त्रिपुरा में तैनात थे। उनके बड़े भाई सांवरमल सैनी ने बताया कि करीब 1 महीने पहले वह छुट्टी लेकर घर आया था। शनिवार सुबह वह फसल को संभालने के लिए खेत में गया था। कुछ देर बाद उसने अपने भतीजे मुकेश (15) को फोन किया था। उसने बताया था कि उसका दम घुट रहा है। इतनी बात कहकर उसने फोन काट दिया था। इसके बाद परिवार वाले मौके पर पहुंचे तो शव लटकता मिला। परिवार वालों ने रस्सी काटी और नीचे उतारा। विनोद की सांसें चल रही थीं। उस लेकर डीबी अस्पताल पहुंचे, जहां इमरजेंसी वार्ड में डॉक्टर ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया।
मौत की खबर मिलते ही हॉस्पिटल में गांव के लोगों की भीड़ जमा हो गई। घटना की सूचना मिलने पर अस्पताल चौकी से कॉन्स्टेबल दयाराम शर्मा वार्ड में पहुंचे। परिजनों से घटना की जानकारी ली। परिजनों ने जब विनोद सैनी के कपड़ों में मिले कागजों को देखा तो उसमें सुसाइड नोट मिला। इसमें जवान ने टेंशन में होने की बात लिखी है। जवान ने लिखा है- मैंने जीने की बहुत कोशिश की, लेकिन जी नहीं पा रहा हूं। मैं जिंदगी छोड़ रहा हूं तो खुशी-खुशी जा रहा हूं।
रतननगर थाना के सीआई जसवीर कुमार ने बताया कि विनोद कुमार सैनी ने सुसाइड नोट में हरियाणा निवासी कर्मवीर और रविन्द्र पर 4 साल पहले उधार लिए 8 लाख रुपए नहीं लौटाने का आरोप लगाया है। जवान ने परिजनों से इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करवाने के लिए लिखा है। सुसाइड नोट के आखिरी में जवान ने अपनी मां आचुकी देवी (75) से माफी मांगी है।
रतननगर थाना के सीआई जसवीर कुमार ने बताया कि परिजनों ने रिपोर्ट दी है। मामले की जांच की जा रही है।

2011 में BSF में हुए थे भर्ती
विनोद कुमार सैनी 4 भाइयों में सबसे छोटे थे। वह साल 2011 में बीएसएफ में भर्ती हुए थे। विनोद की शादी साल 2009 में श्रीडूंगरगढ़ निवासी भवानी के साथ हुई थी। उसके 6 साल की बेटी और 4 साल का बेटा है।

सुसाइड नोट में क्या लिखा.. आप भी पढ़िए…
मैं माफी चाहूं हूं सभी से। मैं ज्यादा टेंशन में था और मेरी वजह से मेरे घर वालों को परेशान मत करना कोई भी। मैंने बहुत कोशिश की है जीने की, लेकिन जी नहीं पा रहा हूं। मैं जिंदगी छोड़ रहा हूं तो खुशी-खुशी जा रहा हूं। मांगीलाल, विनोद, श्रवण, सांवर भाई इन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया है। और आगे भी मेरे परिवार और बच्चों का ध्यान रखना। मेरी बटालियन में तुरंत सूचना करना मुक्तिलाल सर (उनके नंबर) और R.K. Das Hc (उनके नंबर)। मांगी इन दोनों को सूचना कर देना, आपकी हेल्प करेंगे दोनों आदमी। दोनों अकाउंट ब्रांच में हैं। इनसे जरूर हेल्प लेना। ये सही बात बताएंगे मेरे जाने के बाद क्या करना है?
सभी मेरे कागज घर पर हैं। इनको बताओगे सभी सुविधा दिला देंगे और मेरे कमांडेंट भी बहुत अच्छे हैं। मांगी इनसे बात करना हेल्प करेंगे और मेरी वजह से अभी बोल रहा हूं कि किसी को परेशान मत करना। जीने की इच्छा खत्म हो गई थी बस और कुछ नहीं है। सभी दोस्तों से एक लास्ट इच्छा है। जितने मेरे को जानते हो वो लोग मेरे बच्चों की आर्थिक सहायता करना और क्या लिखूं कुछ नहीं है मेरे पास।
एक बात और गढ़ली गांव सिरसा का है कर्मवीर और टोहना के जमालपुर का है रविन्द्र। इन दोनों से 8 लाख रुपए पक्का लेना, 4 साल होने जा रहे हैं। इन्होंने ठीक नहीं किया मेरे साथ। मांगीलाल इन दोनों पर कार्रवाई करवाना। बाकी और मांगी देखना यार मैं तो जा रहा हूं। बाकी मेरे परिवार, रिश्तेदार और मित्रों से माफी चाहता हूं कि मैंने ये कदम उठाया है। मां, माफ करना मुझे।