April 20, 2024
शनिवार की शाम हुए दर्दनाक हादसे से गुस्साएं लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन
बीकानेर। जिले के नजदीकी नापासर कस्बे में शनिवार की शाम हुए दर्दनाक हादसे के दौरान किचड़ के कारण फीसल कर गिरी शिक्षिका को ऊंठ गाड़े ने कुचल दिया,मौके पर लहुलुहान हुई २३ वर्षीय शिक्षिका प्रज्ञा शर्मा गंभीर हालात में कस्बे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया,बाद में पीबीएम होस्पीटल रैफर कर दिया। जहां दौराने ईलाज उसकी मौत हो गई। इससे कस्बे में शोक की लहर दौड़ गई और शोकमग्न लोगों ने हादसे के लिये पंचायत प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। हमारे नापासर संवाददाता नंद किशोर जोशी ने बताया कि सोहा गांव की सरकारी स्कूल में कार्यरत शिक्षिका प्रज्ञा शर्मा 23 वर्षीय अपनी साईकिल से फ़ोटो कॉपी करवाने जा रही थी,आदर्श सीनियर सेकेंडरी स्कूल के पास गड्डों में डाली हुई बालू मिट्टी में से निकल रही थी बालू काफी दिनों से पानी मे रहने की वजह से कीचड़ का रूप बन गई थी शिक्षिका प्रज्ञा की साइकिल स्लिप हो गई जिससे संतुलन बिगड़ जाने से नीचे गिर गई और पीछे चल रहे ईंटों से लद्दे  ऊंठ गाड़े ने उसे कुचल दिया। इस हादसे को लेकर विरोध प्रदर्शन के लिये सड़कों पर उतरें नापासर संघर्ष समिति,नापासर युवा मित्र मंडल के प्रतिनिधियों समेत पंचायत समिति सदस्य अनुराधा पारीक,पंच लालचंद आसोपा ,पुरषोत्तम भाटी,युवा सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार सोनी समेत स्थानीय लोगों ने ग्राम पंचायत कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर कस्बे में  अव्यवस्थाओं के कारण होने वाले इस तरह के हादसों की रोकथाम के लिये पुख्ता बंदोबश्त करने की मांग की।
प्रज्ञा के नाम से हो सड़क का नामाकरण
सेवाभावी एवं धर्मपरायण शिक्षिका प्रज्ञा शर्मा के असायमिक निधन पर श्रद्धांजलि सभा का भी आयोजन किया गया। श्रद्धाजंलि सभा में पंचायत समिति सदस्य अनुराधा पारीक ने संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि अगर ग्राम पंचायत प्रज्ञा शर्मा को सच्ची श्रद्धांजलि देना चाहती है तो जल्दी से जल्दी इस सड़क का निर्माण करवाकर दे सकती है जिसका नाम भी शिक्षिका प्रज्ञा शर्मा के नाम से हो।