May 28, 2024

नागौर में कांग्रेस और आरएलपी समर्थक भिड़े : हनुमान बेनीवाल के भाषण के दौरान लगे मिर्धा जिंदाबाद के नारे, कार्यकर्ताओं में हाथापाई

डेगाना (नागौर)। नागौर में हनुमान बेनीवाल और विजयपाल-रिछपाल मिर्धा के समर्थकों के बीच अदावत बढ़ती जा रही है। सोमवार को भी बेनीवाल और मिर्धा के समर्थक आपस में उलझ गए। बात हाथापाई तक पहुंच गई। मौके पर मौजूद पुलिस के जवानों ने दोनों के समर्थकों को अलग-अलग किया। मामला जिले के डेगाना में सोमवार शाम 6:30 बजे का है।
दरअसल, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) सत्ता संकल्प परिवर्तन यात्रा निकाली रही है, जो सोमवार शाम करीब 4 बजे डेगाना पहुंची। इस दौरान पार्टी सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल ने रोड शो किया, जो नागौर फाटक से शुरू होकर चिल्ड्रन पार्क में समाप्त हुआ।

सभा को संबोधित करते ही हंगामा
चिल्ड्रन पार्क में हनुमान बेनीवाल आम सभा को संबोधित कर रहे थे। बेनीवाल ने कांग्रेस और भाजपा के खिलाफ जमकर ​निशाना साधा। उन्होंने कहा- आगामी विधानसभा चुनाव में आरएलपी डेगाना विधानसभा सीट से चुनाव में अपना मजबूत उम्मीदवार उतारेगी। उन्होंने वर्तमान विधायक विजयपाल मिर्धा और उनके पिता रिछपाल मिर्धा पर भी तंज कसते हुए कहा था- मैं तो ऐसा व्यक्ति हूं, जो मेरे पास आता है, उसकी मदद करता हूं। पिछली बार कांग्रेस के यहां से जो नेता हैं, वो रात को 12 बजे मेरे पास आए थे। पिता-पुत्र दोनों आए थे और मैंने उनकी मदद की और यहां से चुनाव जीतकर चले गए। इसके अलावा आपने देखा होगा कि लोकसभा चुनाव में मेरा गठबंधन था, जिससे बीजेपी को बढ़त मिली। ऐसे में मैं दोनों ही पार्टियों के काम आया हूं।
वे बोले हनुमान बेनीवाल वो लड़ाका है, जिसने तेजाजी महाराज के जयकारे को राजस्थान की विधानसभा से देश की लोकसभा तक लेकर गया था। इतना सुनते ही सभा में मौजूद विजयपाल मिर्धा और रिछपालसिंह मिर्धा समर्थकों ने विजयपाल और रिछपाल मिर्धा जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए थे।
इसी दौरान दोनों पार्टियों के समर्थकों में आपसी झड़प हुई। हालांकि पुलिस ने माहौल गरमाता देख दोनों ही पार्टियों के समर्थकों को अलग-अलग कर मामला शांत करवाया। इधर, जैसे ही दोनों समर्थक आपस में उलझे तो हनुमान बेनीवाल वहां से​ निकल गए।

मेड़ता में कांग्रेस और बीजेपी पर बेनीवाला ने साध निशाना
इससे पहले हनुमान बेनीवाल ने मेड़ता में बिना नाम लिए कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी के सामने वाला पाला भी कमजोर है। एक तरफ पप्पू है और एक तरफ गप्पू है। इस दौरान पार्टी से स्थानीय विधायक इंदिरा बावरी अपने भाषण के दौरान भावुक हो गईं। इस दौरान सांसद हनुमान बेनीवाल के साथ मेड़ता विधायक इंदिरा बावरी, भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग समेत पार्टी के कई नेता मौजूद रहे।
मामले पर डेगाना विधायक विजयपाल मिर्धा ने बताया कि मुझे इस मामले को लेकर पूर्व में कोई जानकारी नहीं थी। कार्यकर्ता खुद ही इकट्ठा होकर मेरे समर्थन में नारेबाजी की तो मौके पर हंगामा हो गया। घटना का पता लगने पर मैंने कार्यकर्ताओं को दूरभाष से समझाइश कर समझा दिया है। मिर्धा ने बताया कि सत्ता संकल्प यात्रा जहां-जहां जा रही है, वहां आरएलपी के नेताओं ने अनर्गल बयानबाजी के चलते हंगामा हो रहा है।