May 28, 2024

मध्य प्रदेश में 12 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार होने पर फांसी की सजा का प्रावधान होने के बाद अब राजस्थान में भी ऐसे ही कानून को पास कराने की तैयारी शुरू कर दी गई है। राजस्थान सरकार की ओर से बजट सत्र के दौरान ऐसे ही एक बिल को पास कराने की तैयारी की जा रही है। सरकार का मानना है कि इस बिल के पास होने के बाद ना सिर्फ बलात्कार की घटनाओं में कमी आ सकेगी बल्कि ऐसी घटनाओं में शामिल लोगों को कड़ी सजा भी दिलाई जा सकेगी। राजस्थान सरकार के इस फैसले के बारे में राज्य के गृहमंत्री ने गुलाबचंद कटारिया ने आधिकारिक पुष्टि की है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि सरकार इस बिल को बजट सत्र में लाने की तैयारी कर रही है और जल्द ही इसका एक ड्राफ्ट भी तैयार किया जाएगा।
सरकार के संबंधित विभाग अभी मध्य प्रदेश में विधानसभा से पास हुए बिल का अध्ययन कर रहे है। गौरतलब है कि 4 दिसंबर 2017 को मध्य प्रदेश की विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक को पास किया गया था। इस बिल के अनुसार राज्य में 12 साल तक की बच्ची के साथ दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फांसी तक की सजा दिए जाने का प्रावधान किया गया था। इसके साथ ही इस बिल में विवाह का झांसा देकर संबंध बनाने और उसके खिलाफ शिकायत प्रमाणित होने पर तीन साल कारावास की सजा का प्रावधान भी किया गया था।