April 15, 2024

बीकानेर। मरूधरा नगर की बिन्नाणी होस्पीटल में डॉ.स्वाति बिन्नाणी की लापरवाही के कारण अकाल मौत का शिकार हुई नवप्रसुता श्रीमति सुशीला सुथार के मामले में आरोपी डॉक्टर को तुरंत गिरफ्तार करने तथा बिन्नाणी होस्पीटल को सीज किये जाने की मांग को लेकर मृतका के परिजनों,श्रीविश्वकर्मा समाज समेत अनेक संगठनों के लोगों ने मंगलवार सुबह मोर्चरी के बाहर धरना देकर जबरदस्त प्रदर्शन कर मृतका का शव लेने से इंकार कर दिया। प्रदर्शन स्थल पर लोगों की लगातार बढती भीड़ के कारण माहौल गरमाता देख कर पहुंचे एडीएम सिटी शैलेन्द्र देवड़ा और सीओ सदर ने धरना स्थल समझाइस वार्ता कर मृतका के परिजनों को भरोसा दिलाया कि कार्यवाही के तहत बिन्नाणी होस्पीटल का रिकॉर्ड सीज कर समूचे मामले की गंभीरता से जांच की जायेगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा जांच में श्रीमति सुशीला की मौत के कारणों का खुलासा होने के बाद डॉ.स्वाति बिन्नाणी के दोषी पाये जाने पर उनकी गिरफ्तारी की जायेगी। मोर्चरी के बाहर धरना देने वालों में वरिष्ठ कांग्रेस हनुमान चौधरी,देहात कांग्रेस अध्यक्ष महेन्द्र सेन गहलोत,नारायण सिंह चारण,लोक जनशक्ति पार्टी जिलाध्यक्ष रमजान मुगल,समाजसेवी गितेश जांगिड़,श्रीविश्वकर्मा सुथार समाज के भागीरथ मांडण,पूर्व पार्षद मेघराज सुथार,शिव शंकर बरड़वा,मदन मोहन बरड़वा,वरिष्ठ पत्रकार पन्नालाल नागल,दूलीचंद सुथार,भंवरलाल माकड़,सहित बड़ी तादाद में सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि शामिल थे।
एनिथिसियां का हाईडोज बना मौत का कारण
जानकारी में रहे कि बिन्नाणी होस्पीटल में पिछले पखवाड़े डिलवरी के लिये भर्ती हुई जेंगला निवासी मंागीलाल सुथार की २५ वर्षीय विवाहिता श्रीमति सुशीला सुथार को सिजेनियर डिलवरी से पहले बेहोशी के लिये डॉ.स्वाति बिन्नाणी ने एनेस्थियां की हाई डोज दे दिया था,इससे डीप कौमा में गई श्रीमति सुशीला को ईलाज के लिये जयपुर के फोर्टिज होस्पीटल भर्ती कराया गया,जहां डॉक्टरों ने उसे बचाने के लिये पखवाड़े भर तक मशक्कत की लेकिन एनिथिसियां की होई डोज से वह बेहाशी की हालत में ही चल बसी। सोमवार देर अपरान्ह मृतका श्रीमति सुशीला के परिजन उसका शव लेकर बीकानेर आ गये जहां व्यास कॉलोनी पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये पीबीएम होस्पीटल की मोर्चरी में रखवा दिया और मंगलवार सुबह मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाया गया है।
पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद जुड़ेगी गैर इरादतन हत्या की धारा
इस मामले को लेकर व्यास कॉलोनी थाना प्रभारी मनोज माचरा का कहना है मृतक श्रीमति सुशीला सुथार के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के कारणों का खुलासा होने पर डॉ.स्वाति के खिलाफ दर्ज मुकदमें में गैर इरादतन हत्या की धारा जोड़ दी जायेगी और जांच में दोषी पाये जाने पर आरोपी डॉक्टर की गिरफ्तारी होगी। थाना प्रभारी ने बताया इस मामले को लेकर गत २१ मई को कि गांव जांगलू हाल जयनारायण व्यास कॉलोनी निवासी बजरंगलाल सुथार लिखित रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया था कि उसके भाई मांगीलाल की पत्नी सुशीला को 16 मई को बिन्नाणी अस्पताल में डिलिवरी के लिए लाए थे, जहां डॉ. स्वाति बिन्नाणी ने मरीज का ऑपरेशन करने की बात कही। कुछ समय बाद ऑपरेशन से लड़का पैदा हुआ, लेकिन उसकी भाभी को ऑपरेशन थियेटर से बाहर नहीं निकाला गया।जब इसका कारण पूछा तो डॉक्टर स्वाति बिन्नाणी ने कहा कि मरीज ऑब्जरवेशन में है, ऑपरेशन हो गया है चिंता की कोई बात नहीं। कुछ समय बाद डॉक्टर ने गलती मानते हुए कहा कि मरीज को ज्यादा एनेस्थिसिया दे दिया था, जांच करने वाले डॉक्टरों के आते ही सब ठीक हो जाएगा। इसके बाद चिकित्सक ने मरीज को उच्च चिकित्सा संस्थान में रेफर कर दिया।
पुलिस के डर से भूमिगत हो गई डॉ.स्वाति
श्रीमति सुशीला की मौत के प्रकरण को लेकर पीबीएम की मोर्चरी में भारी विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिस कार्यवाही के डर से बिन्नाणी होस्पीटल की डॉ.स्वाति बिन्नाणी अपने घर और होस्पीटल से फरार हो गई। हालांकि पुलिस ने मंगलवार को उसकी गिरफ्तारी का कोई प्रयास नहीं किया लेकिन गिरफ्तारी के डर से वह होस्पीटल से इधर उधर हो गई। बताया जाता है कि होस्पीटल का रिकॉर्ड सीज करने पहुंची चिकित्सा अधिकारियों की टीम के सामने भी वह नहीं आई।