April 23, 2024

दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने कई अलग-अलग ठिकानों पर दी दबिश, तीन युवकों को किया डिटेन, रोहित गोदारा गैंग से कनेक्शन की आशंका

हनुमानगढ़। हनुमानगढ़ के पीलीबंगा कस्बे में मंगलवार रात दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने कई अलग-अलग ठिकानों पर दबिश दी। दबिश में दिल्ली क्राइम ब्रांच अपने साथ थाना क्षेत्र के तीन युवकों को पूछताछ के लिए लेकर गई है। युवकों का कनेक्शन गैंगस्टर रोहित गोदारा के साथ बताया जा रहा है। पुलिस के आला अधिकारियों ने मामला दिल्ली क्राइम ब्रांच से जुड़ा होने के चलते किसी भी प्रकार की आधिकारिक जानकारी देने में असमर्थता जताई है। तीनों युवकों का पुराना कनेक्शन सामने आया है। दिल्ली क्राइम ब्रांच के आधिकारिक सूचना के बाद ही असली वजह सामने आ पाएगी।

दिल्ली क्राइम ब्रांच पीएचक्यू के सम्पर्क में थी। दिल्ली क्राइम ब्रांच ने इस पूरी दबिश की कार्रवाई को गुप्त रखा था। दिल्ली क्राइम ब्रांच अलग-अलग दबिश देकर तीन युवकों कमलेश सारस्वत पुत्र सुनील सारस्वत, जतिन छाबड़ा पुत्र राजू छाबड़ा और अशोक राजपूत पुत्र बजरंग को पूछताछ के बाद अपने साथ ले गई। जानकारी के अनुसार तीनों युवकों को डिटेन कर दिल्ली क्राइम ब्रांच अपने साथ दिल्ली लेकर गई है। इस पूरी कार्रवाई को दिल्ली क्राइम ब्रांच ने गोपनीय तरीके से अंजाम दिया है। पुलिस के अधिकारियों ने मामला दिल्ली क्राइम ब्रांच से जुड़ा होने के चलते किसी भी आधिकारिक जानकारी को साझा नहीं किया है।

गैंगस्टर रोहित गोदारा गैंग से कनेक्शन आया सामने
तीनों युवकों का रोहित गोदारा गैंग से तार जुड़ने की जानकारी होना सामने आया है। दिल्ली क्राइम ब्रांच रोहित गोदारा गैंग से जुड़े गुर्गों को पकड़ रही है। इसी दौरान एक गुर्गे ने इन तीन युवकों का नाम लिया था, जिसके बाद तीनों युवकों को दिल्ली क्राइम ब्रांच पीलीबंगा थाना क्षेत्र में दबिश देकर अपने साथ लेकर गई है।

सूरतगढ़ से हथियार लेकर किए थे आगे सप्लाई
करीब 3-4 साल पहले इन्हीं युवकों को रोहित गोदारा गैंग के गुर्गे ने सूरतगढ़ क्षेत्र में हथियार सप्लाई किए थे। उन्हीं हथियारों को आगे इन्हीं युवकों ने पहुंचाए थे। वहीं बीकानेर पुलिस ने एक आरोपी विष्णु साध को गिरफ्तार किया था। जिसको इन युवकों द्वारा वारदात के लिए हथियार देने की बात सामने आई है। युवकों ने स्लीपर सेल की तरह हथियारों की सप्लाई दी थी।