May 28, 2024

बीकानेर। विभिन्न मांगों को लेकर सरकार के विरोध में चल रही चिकित्सकों की हड़ताल से प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था का हाल बेहाल नजर आ रहा है। हड़ताल के बाद कमान संभाले सीनियर चिकित्सकों ने भी अब ईलाज से हाथ खड़े कर लिए है और उन्होंने भी अब कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया है। जिसके तहत् आज पीबीएम अस्पताल सहित सभी सरकारी चिकित्सालयों में इमरजैंसी के अलावा सामान्य मरीजों का उपचार भी बंद हो गया है। जानकारी में रहे कि पिछले आठ दिनों से चल रही चिकित्सकों की हड़ताल का असर अब देखने में आ रहा है। जब कुछ दिनों से कमान संभाल रहे सीनियर डॉक्टरों ने अपने कदम पीछे कर लिए है। जिससे हालात ये बने है कि इमरजैंसी के अलावा ओपीडी शून्य रहा है। कहीं-कहीं तो ओपीडी के ताले नहीं खुले तो कहीं चिकित्सकों की गैरमौजूदगी में मरीजों को उलटे पांव वापस लौटना पड़ा है। जिससे मरीजों को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा है।
जानकारी में रहे इस प्रकार के हालात रहे तो प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था को संभालने के लिए रेलवे व आर्मी की मदद लेनी होगी।
उलाहना देते मरीज
उपचार के लिए आने वाले हर मरीज के मुंह से सरकार व चिकित्सकों के लिए उलाहना निकलते हुए नजर आ रही है। देखा गया है कि दूर दराज के क्षेत्रों से उपचार के लिए आने वाले मरीजों व परिजनों को बिना उपचार के ही लौटना पड़ रहा है। आज से सरकारी अस्पतालों में चल रही अधकचरी ओपीड़ी भी बंद हो चुकी है। जिससे हर मरीज के मुंह से निकल रहा कि हम कहां जायें। -फोटो राजेश छंगाणी