April 20, 2024

पल्लेदारों के फर्जी खातों में जमा करवाये थे साढे पांच करोड़
बीकानेर। कालाधन सफेद करने के लिये पल्लेदारों के फर्जी खातों में साढे पांच करोड़ रूपये जमा करवाने मामले में फंसे जिला देहात भाजपा अध्यक्ष सहीराम दूसाद के खिलाफ कार्यवाही का शिंकजा अब लगतार कसता जा रहा है। पुलिस और आयकर विभाग ने दूसाद और उनके निकटतम रिश्तेदार द्वारा २०१६ में काली कमाई की नियत से बनाई गई सहकारी समिति के जरिये बीते दो सालों में हुई खरीद-फरोख्त के तमाम दस्तावेज जुटाने शुरू कर दिये है। खबर है कि मूंग की सरकारी खरीद के लिये ठेका लेने वाली इस सहकारी समिति से ही दूसाद और उसके परिजनों द्वारा की गई काली कमाई के तार जुड़े हुए है। हालांकि पुलिस जांच का फोकस पल्लेदारों के फर्जी खातें खुलवाकर उनमें हुए करोड़ो के लेन-देन पर है जबकि आयकर विभाग की अन्वेषण शाखा के अधिकाधिकारियों का फोकस सहीराम दूसाद और उनके निकटतम परिजनों द्वारा संचालित की जा रही सहकारी समिति और अन्य फर्मो पर है। खबर है कि दूसाद ने इसी सहकारी समिति के माध्यम से सरकारी दर पर मंूग की खरीद कर मंहगी दरों में बेचे और इस खरीद-फरोख्त में करोड़ो के मुनाफे से जमा हुए कालेधन को पल्लेदारों के फर्जी खाते खुलवाकर उनमें जमा करवा दिया। हालांकि अभी तक ऐसे चौदह खातेधारी ही सामने आये है जिनके नाम से खोले गये खातों में करोड़ो का लेन देन हुआ है,लेकिन सूत्रों ने बताया है कि जांच पड़ताल में ऐसे पचासों खातों का खुलासा हो सकता है जो सहीराम दूसाद और उनके बेटे द्वारा फर्जी ढंग से खुलवाये गये थे। हालांकि पुलिस और आयकर पहले इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही थी,लेकिन प्रारंभिक जांच पड़ताल में करोड़ो की मोटी कमाई को फर्जी खातों में जमा कराने और काले कारोबार से जुड़े चौंकाने वाले तथ्य सामने आने के बाद पुलिस और आयकर विभाग अधिकारियों ने मामले की गहनता से जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
मंत्रीयों ने नहीं लगने दिया नजदीक
फर्जी खातों में करोड़ो रूपये जमा करवाने के मामले में फंसे जिला देहात भाजपा अध्यक्ष सहीराम दूसाद मंगलवार को बीकानेर दौरे पर आये केन्द्रीय राज्यमंत्री विजय गोयल और प्रदेश की उच्च शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी और उनके साथ शािमल संगठन के नेताओं ने नजदीक नहीं लगने दिया। हालांकि एक बार तो सहीराम दूसाद केन्द्रीय राज्यमंत्री विजय गोयल के नजदीक जा पहुंचे थे लेकिन संगठन के नेताओं की उन पर नजर पड़ते ही उन्होने केन्द्रीय राज्यमंत्री को सहीराम से दूरी बनाने का इशारा कर दिया।
ऐसा तो पहली बार हो रहा है
बीकानेर के सियासी इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है जब संकट में फंसे भाजपा नेता को बचाने के लिये कांग्रेस नेता और उनके सिपहासालारों ने अपनी ताकत झोंक रखी है और यह सब हो रहा जिला देहात भाजपा अध्यक्ष सहीराम दूसाद के मामले में जिनके खिलाफ कृषि उपज मंडी के चौदह पल्लेदारों ने फर्जी खातों में करोड़ो रूपये लेन-देन के आरोप में पुलिस केस दर्ज करवा रखा है। इस मामले में फंसने के बाद भाजपा नेताओं ने सीधे तौर पर सहीराम से दूरियां बना ली है जबकि नोखा में कांग्रेसी खेमें से जुड़े कई नेता और सरपंच वगैरहा ने सहीराम को इस मामले से बचाने के लिये के अपनी ताकत झोंंंंंक रखी है। खबर है डेमेज कंट्रोल में जुटे सहीराम और उनके सहयोगियों ने मामला उजागर करने वाले पल्लेदारों को राजी कर पुलिस केस वापिस लेने के लिये प्रेरित कर लिया है,लेकिन आयकर विभाग अन्वेषण टीम की कार्यवाही शुरू होने के बाद सहीराम का संकट पहले से दुगुना बढ गया है।