February 26, 2024

चलती बस में लगी भीषण आग, खिड़कियों से कूदे लोग, मची अफरा-तफरी

जयपुर। चलती स्लीपर कोच बस में अचानक आग लगी तो हड़कंप मच गया। सवारियों चिल्लाने लगीं। जान बचाने के लिए खिड़कियों के कांच तोड़कर कूदने लगीं। हादसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर रविवार रात 10.15 बजे ताखा के पास हुआ। बस जयपुर से नेपाल जा रही थी। बस में 17 लोग सवार थे।
दरअसल, बस जयपुर से रविवार दोपहर करीब 1 बजे घाटगेट से रवाना हुई थी। रात करीब 10.15 बजे सभी लोग बस में सो रहे थे। इस दौरान बस में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। अचानक आग का शोर मचने लगा तो ड्राइवर ने बस रोक दी। कुछ यात्री खिड़कियों के कांच तोड़कर बाहर कूद गए। वहीं, कुछ गेट की तरफ दौड़े। समय रहते सभी बस से बाहर निकल गए। देखते-देखते पूरी बस जल गई। सूचना पर पहुंची दो दमकलों ने करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

सभी यात्री सुरक्षित
ऊसराहार थानाधिकारी गंगादास गौतम ने बताया कि घटना भरतिया के पास चैनल नंबर 131+500 पर हुई। शुरुआती जांच में ऐसा मालूम होता है कि हीट पकड़ने से बस में आग लगी है। फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है। उन्होंने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित हैं। बस में रखा यात्रियों का लाखों का सामान जल गया। सभी यात्रियों को रात में ही दूसरी बस से भेज दिया गया है। गनीमत रही कि हादसे में कोई घायल नहीं हुआ।

6 महीने नौकरी कर वापस लौट रहे थे
जानकारी मिली है कि रंग बहादुर नाम का व्यक्ति इन सभी 17 लोगों को नेपाल से जयपुर छह माह के लिए लाया था। सभी लोग घरों और फैक्ट्रियों में नौकरी करते थे। छह महीने पूरे होने पर रविवार को रंग बहादुर ने इन्हें फिर से नेपाल भेजा था। कुछ काम होने के कारण रंग बहादुर नेपाल नहीं गया। ये लोग जयपुर में अकेले आते हैं। परिवार नेपाल में ही रहता है। बस के मालिक का नाम सैफुद्दीन कुरैशी है। सैफुद्दीन की स्लीपर बस को ही नेपाल जाने के लिए हायर किया गया था।