February 26, 2024

बीकानेर। सीमावर्ती इलाकों में अब प्रशासन की ओर से ऐसी सडक़ों का निर्माण किया जाएगा जिन पर लडाकू विमान तक उतर सकते हैं। जम्मू से कांडला तक बनने वाली भारतमाला परियोजना के निदेशक कुलवंत कटारिया के अनुसार परियोजना में बीकानेर के अलावा सीमावर्ती गंगानगर, जैसलमेर व बाड़मेर को शामिल किया गया है। इसके लिए चारों जिलों में उच्च गुणवत्ता की 10 मीटर चौड़ी विशेष सडक़ बनाई जाएगी जहां युद्ध या आपात स्थिति में लड़ाकू विमान भी उतारे जा सकते हैं। कटारिया के अनुसार वर्ष 2018 के अंत तक सडक़ का निर्माण श्रीगंगानगर से शुरू किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि युद्ध के समय एयरबेस बर्बाद होने की स्थिति में लड़ाकू विमानों को उतारने के लिए ही ऐसी सडक़ों का निर्माण कराया जाता है। देश में इससे पहले आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे और मथुरा एक्सप्रेस वे पर सडक़ों पर लड़ाकू विमान उतारे जा चुके हैं।