February 22, 2024

देहरादून। प्रदेश में वन महकमे के लगभग 4000 फील्ड कर्मियों की छुट्टियां अगले चार माह के लिए रद कर दी गई हैं। अपरिहार्य परिस्थिति में ही उन्हें अवकाश अनुमन्य किया जाएगा। आज से शुरू हो रहे फायर सीजन के मद्देनजर वन विभाग ने यह कदम उठाया है।

साथ ही दावा किया कि दावानल से निबटने के लिए सभी तैयारियां पूरी हैं। जंगल में कहीं भी आग की सूचना मिलने पर इसे बुझाने के लिए वनकर्मी चौबीसों घंटे तत्पर रहेंगे। साथ ही आला अधिकारियों को जिले आवंटित कर उनकी जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है। 44 वन प्रभाग, 294 रेंज और 1569 बीट में फैले वन क्षेत्र को फायर सीजन के दौरान आग से बचाना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। यह फिर से सिर पर खड़ी है और इससे निबटने का मुख्य जिम्मा है विभाग के फील्ड स्टाफ के कंधों पर। गुरुवार से फायर सीजन की औपचारिक शुरुआत भी हो रही है। वन विभाग के मुखिया प्रमुख मुख्य वन संरक्षक जयराज के मुताबिक दावानल से निबटने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

उन्होंने बताया कि राज्यभर में 1400 से अधिक क्रू-स्टेशन बनाए गए हैं, जिनमें पांच से सात कार्मिकों की तैनाती चौबीसों घंटे रहेगी। इसे देखते हुए फायर सीजन में अपरिहार्य परिस्थिति में ही फील्ड स्टाफ को अवकाश दिया जाएगा। प्रभागीय वनाधिकारियों से ऊपर पीसीएफ स्तर के अधिकारियों को जिले आवंटित किए गए हैं और वनाग्नि नियंत्रण को लेकर उनकी जिम्मेदारी तय की गई है। उन्होंने बताया कि वह खुद भी इस दौरान फील्ड मूवमेंट करेंगे।