February 25, 2024

7 साल की बच्ची संग पूर्व पार्षद करता रहा रेप : पड़ोस में ही रहता था, चॉकलेट के नाम पर घर ले गया

कोटा। सात साल की मासूम के साथ उसी का मौसा एक महीने से रेप कर रहा था। किसी को बताने पर घरवालों को मारने की धमकी देता था। इस मामले के सामने आने के बाद अब आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी मध्यप्रदेश में पार्षद रह चुका है। मामला बोरखेड़ा थाना इलाके का है। बाल कल्याण समिति सदस्य विमल चंद जैन ने बताया कि मंगलवार को समिति के सदस्य आबिद अब्बासी के पास एक जानकारी आई कि 7 साल की बच्ची के साथ उसके रिश्तेदार ने रेप किया। इसके बाद बाल कल्याण समिति के सदस्य तुरंत बच्ची के परिजनों के पास पहुंची। पूरे मामले की जानकारी ली।
काउंसलिंग में बच्ची ने बताया कि उसका मौसा पड़ोस में ही रहता है। करीब 1 महीने पहले वह चॉकलेट के नाम पर उसे अपने घर में ले गया। उस समय घर में कोई नहीं था। आरोपी ने उसके साथ ज्यादती की। बच्चे रोने लगी तो आरोपी ने कहा कि किसी को बताया तो वह उसके घरवालों को जान से मार देगा। इसके बाद बच्ची गुमसुम रहने लगी। चार बार आरोपी ने बच्ची को अपने घर पर बुलाया। इसी तरह उसके साथ रेप किया। 14 नवंबर को जब आरोपी की पत्नी घर पर नहीं थी। फिर से मासूम को बुलाया। उस दौरान बच्ची के पिता ने काम पर जाने से पहले बच्ची को आवाज लगाई तो काफी देर तक बच्ची बाहर नहीं आयी।
जब बाहर निकली तो घबराई हुई थी। ऐसे में पिता को शक हुआ। उन्होंने पत्नी से बात करने के लिए कहा। मां ने विश्वास में लेकर जब बच्ची से जानकारी ली तो पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद उन्होंने सीधा बाल कल्याण समिति सदस्य को इसकी जानकारी दी।

आरोपी भाग ना जाए इसलिए शक नहीं होने दिया
बाल कल्याण समिति सदस्य विमल चंद जैन ने बताया कि मामला सामने आने के बाद आरोपी के भाग जाने की भी आशंका थी। ऐसे में आरोपी को अहसास नहीं होने दिया कि बच्ची के घरवालों को घटना की जानकारी लग चुकी है। जिस दिन बाल कल्याण समिति को इस घटना की जानकारी लगी उसी दिन पुलिस को जानकारी दे दी गई। पुलिस ने भी मामले में जानकारी लगते ही मुकदमा दर्ज किया। बालिका का मेडिकल भी करवाया। साथ ही बच्ची के मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान भी करवाए गए। इस दौरान पीड़ित बच्ची का परिवार आरोपी परिवार से नॉर्मल ही बातें करता रहा। गुरुवार को कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

4 बच्चों का पिता है आरोपी
बाल कल्याण समिति और बच्ची के परिजनों के अनुसार आरोपी मध्य प्रदेश का रहने वाला है। वह शादीशुदा है। 4 बच्चों का पिता है। लेकिन पत्नी और बच्चों को छोड़ा हुआ है। आरोपी मध्यप्रदेश में पार्षद भी रह चुका है। कुछ साल पहले बच्ची की मौसी से शादी करने के बाद कोटा में ही उसके साथ रहने लग गया था।
आरोपी शिवपुरी (मध्यप्रदेश) का रहने वाला है। बच्ची के परिवार के अनुसार वह पार्षद रह चुका है। आरोपी के परिवार का कोई सदस्य कोटा में नहीं रहता है। बच्ची की मौसी पांच साल पहले एमपी में रह रही थी। तब दोनों की मुलाकात हुई। दोनों ने शादी कर ली। इसके बाद आरोपी कोटा आकर रहने लगा। पांच साल से कोटा में ही रह रहा था। आरोपी और पीड़ित का परिवार का मकान बिल्कुल सटा हुआ है। इसी का फायदा आरोपी ने उठाया।

आरोपी के बारे में जुटाई जा रही जानकारी
एएसपी उमा शर्मा ने बताया कि बच्ची के साथ ज्यादती की शिकायत आई थी। इसके बाद बच्चे की काउंसलिंग करवाई गई। तुरंत थाने में मामला दर्ज करवाने के निर्देश दे दिए थे। हाथों हाथ मुकदमा भी दर्ज कर कार्रवाई की गई। आरोपी पीड़िता का रिश्तेदार ही है ऐसे में पहचान उजागर नहीं की जा सकती। पीड़िता 7 साल की मासूम है। आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है।