February 22, 2024

जोधपुर। अवैध बजरी खनन को लेकर दायर जनहित याचिका पर मंगलवार को हाईकोर्ट सीजे प्रदीप नंद्राजोग की खण्डपीठ में सुनवाई हुई. याचिकाकर्ता ने जनहित याचिका में अवैध बजरी खनन करने वाले बजरी माफिया पर कार्रवाई की मांग की है. याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया है कि बजरी खनन माफिया हथियारों के दम पर गुंडागर्दी करते हैं जिससे जनता में दहशत है और प्रदेश को भी राजस्व की हानि पहुंचा रहे है. सुनवाई के दौरान सरकार ने इस मामले में जवाब पेश करते हुए खण्डपीठ को बताया कि सरकार लगातार बजरी माफिया पर कार्रवाई कर रही है. अवैध बजरी खनन की सूचना पर तुरंत कार्रवाई करते हुए ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है. और खनन के दौरान काम मे ली जाने वाली मशीनें जप्त की जा रही हैं. याचिकाकर्ता हैमंतसिंह मोजावत के अधिवक्ता हेमंत जैन ने सरकार रिजोईंडर पेश करने के लिए मंगलवार को समय मांगा. अब इस मामले में आगामी 19 फरवरी को फिर सुनवाई होगी. सरकार की ओर से अतिरिक्त महाअधिवक्ता कांतिलाल ठाकूर, ऋषभ ताहिल व मयंक रांकावत ने पक्ष रखा.