May 21, 2024

अपने बर्ताव को लेकर एक बार फिर इंडिगो एयरलाइंस सुर्खियों में आई है। इससे पहले कंपनी ने अपने कर्मचारियों के साथ बुरा बर्ताव किया था लेकिन इस बार कंपनी ने अपने यात्री को ही धमकी दे डाली। एयरलाइंस पर आरोप है कि उसके करामचारियों ने कुछ यात्रियों पर बल का प्रयोग किया क्योंकि वो विमान से नहीं उतर रहे थे। यात्रियों का आरोप है कि कंपनी उन्हें धमकी भी दी। हालांकि बताया जा रहा है कि ये मामला 30 दिसंबर 2017 का है। इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है। विमान में सवार यात्री जो महाराष्ट्र में एख निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रसाद नंदुरकर ने अपने फेसबुक पर पोस्ट करते हुए गुस्सा निकाला है। उन्होंने लिखा “इंडिगो एयरलाइंस के कर्मचारियों ने यात्रियों को धमकी दी कि वे विमान से उतर जाएं, अन्यथा उन्हें वह पटना सीआईएसएफ के माध्यम से घसीटकर बाहर निकलवाएंगे” प्रसाद का आरोप है कि पहले तो एयरलाइंस कंपनी ने यात्रियों को विमान में सवार होने दिया फिर उड़ान को रद्द कर दिया। बाद में कंपनी ने यात्रियों के आरोपों को खारिज करते हुए सफाई दी कि 30 दिसंबर को 20 यात्रियों को छोड़कर बाकी सभी यात्री उसके कर्मचारियों के साथ सहयोग बनाए रखने के लिए नम्रतापूर्वक अनुरोध किया गया और सभी को बाहर निकाला गया। उनका कहना है कि 30 दिसंबर को मौसम खराब होने और विजिबिलिटी कम होने के कारण यात्रा रद्द की गई थी। इससे पहले भी इंडिगो एयरलाइंस पर इस तरह के आरोप लग है। जिसक बाद कंपनी को संसदीय समिति की नाराजगी का सामना करना पड़ा था। अब से ठीक तीन महीने पहले इस एयरलाइंस के करामचारियों ने दिल्ली हवाईअड्डे पर एक यात्री के साथ मारपीट की थी। अपने कर्मचारियों के साथ बुरा बर्ताव करने के बाद एक बार फिर इंडिगो एयरलाइंस कंपनी सुर्खियों में आई है. इस बार कंपनी पर यात्रियों को धमकी देने का आरोप लगा है. एयरलाइंस पर आरोप है कि उसके कर्मचारियों ने विमान से ना उतरने पर कुछ यात्रियों के लिए बल का प्रयोग किया. यात्रियों का आरोप है कि कंपनी के कर्मचारियों ने उन्हें धमकी भी दी है. यह पूरा मामला 30 दिसंबर 2017 का बताया जा रहा है. इस घटना से संबंधित एक वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है. विमान में सवार यात्री एवं महाराष्ट्र में एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रसाद नंदुरकर ने अपने फेसबुक पोस्ट में इंडिगो के खिलाफ गुस्सा उतारा है. प्रसाद ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, इंडिगो एयरलाइंस के कर्मचारियों ने यात्रियों को धमकी दी कि वे विमान से उतर जाएं, अन्यथा उन्हें वह पटना सीआईएसएफ के माध्यम से घसीटकर बाहर निकलवाएंगे. प्रसाद का आरोप है कि एयरलाइंस कंपनी ने पहले यात्रियों को विमान में सवार होने दिया फिर उड़ान को रद्द कर दिया.
यात्रियों के आरोपों के बाद कंपनी की ओर से सफाई दी गई है. कंपनी का कहना है कि 30 दिसंबर को 20 यात्रियों को छोड़कर बाकी सभी यात्री उसके कर्मचारियों के साथ सहयोग बनाए रखने के लिए नम्रतापूर्वक अनुरोध किया गया और सभी को बाहर निकाला गया. कंपनी का कहना है कि 30 दिसंबर को मौसम खराब होने और विजिबिलिटी कम होने के कारण यात्रा को रद्द किया गया था.अपने कर्मचारियों के व्यवहार को लेकर हाल ही में संसदीय समिति की नाराजगी की शिकार बनी सस्ती विमान सेवा कंपनी इंडिगो पर अब पिछले महीने के आखिर में पटना हवाईअड्डे पर विमान से निकलने से कथित रूप से मना करने वाले कुछ यात्रियों के विरुद्ध बल प्रयोग की धमकी देने का आरोप लगा है। पिछले साल 30 दिसंबर को यह घटना घटी थी। यात्री एवं महाराष्ट्र में एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रसाद नंदुरकर ने फेसबुक पर पोस्ट किया, ‘‘इंडिगो एयरलाइंस के कर्मचारियों ने यात्रियों को धमकी दी कि वे विमान से उतर जाएं, अन्यथा उन्हें वे पटना में सीआईएसएफ के माध्यम से घसीटकर बाहर निकलवायेंगे।’’ उन्होंने यह भी लिखा कि पहले तो एयरलाइन ने यात्रियों को सवार होने दिया और फिर उड़ान रद्द कर दी। इंडिगो ने सफाई दी है कि 20 यात्रियों को छोड़कर बाकी सभी यात्री उसके कर्मचारियों द्वारा सहयोग के लिए नम्रतापूर्वक अनुरोध किये जाने पर विमान से उतर गए। संबंधित उड़ान खराब मौसम के चलते रद्द की गयी थी। उससे करीब तीन महीने पहले इस विमानन कंपनी के कर्मचारियों ने दिल्ली हवाईअड्डे पर एक यात्री के साथ मारपीट की थी।