April 15, 2024

बीकानेर। पाकिस्तान बॉर्डर से लगते बीकानेर सेक्टर में पिछले दिनों तारबंदी तक पाकिस्तान की तरफ से आए लोगों के पदचिन्ह मिलने और इसके बाद एक पाकिस्तानी किशोर के तारबंदी काटकर भारतीय सीमा में घुसने का मामला किसी आतंकी संगठन की रैकी की ओर इशारा कर रहा है।
सुरक्षा एजेंसियों की पूछताछ में पाकिस्तानी किशोर ने खुलासा भी किया है कि उसे सेना की वर्दी पहने हुए लोगों ने भारत में जाकर फोटो आदि लेकर व्हाट्सअप के जरिए भेजने को कहा था।वहीं सीमापार आईएसआई और आंतकी संगठनों की सक्रियता को भांप कर सीमा सुरक्षा बल ने बॉर्डर की रखवाली के जवानों की तादाद दुगुनी करने तैयारी शुय कर दी है। वहीं केन्द्र सरकार भी जम्मू-कश्मीर से लेकर गुजरात तक भारत-पाक सीमा पर घुसपैठ रोकने को पुख्ता इंतजाम की तैयारी में है। यहां जवानों की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है। जानकारी के अनुसार जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने से बौखलाए पाक पोषित आंतकी संगठनों की ओर से भारत के विभिन्न राज्यों में फिदायीन हमले करने की जानकारी खुफिया एजेंसियों से मिलने के बाद गृह मंत्रालय ने घुसपैठ रोकने को पुख्ता इंतजाम करने की कवायद शुरू कर दी है। सरकार के धारा 370 हटाए जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की सभी चालें विफल होने तथा कश्मीर में विद्रोह जैसी उत्पन्न नहीं होने से कश्मीर को भारत से अलग करने का सपना देखने वाले आतंकी संगठन सकते में हैं। कश्मीर घाटी में अशांति फैलाकर भारत सरकार के निर्णय को गलत ठहराने के लिए जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए- तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्ीन सहित अन्य संगठनों ने अब फिदायीन हमलों से भारत को दहलाने का षड्यंत्र रचा है। खुफिया सूत्रों का कहना है कि प्रशिक्षित आतंकी जम्मू-कश्मीर से लगती सीमा से अलावा पंजाब, राजस्थान और गुजरात से सटी सीमा से भी भारत में घुसपैठ कर फिदायीन हमलों को अंजाम दे सकते हैं। आतंकियों की घुसपैठ को विफल करने के लिए गृह मंत्रालय ने पुख्ता इंतजाम व फोर्स बढ़ाने की कवायद शुरू कर दी है।