March 5, 2024

बीकानेर। अंडर ग्राउंड हाईवोल्टज लाइन कितनी खतरनाक हो सकती है, इसका उदाहरण मंगलवार को देखने को मिला। लूणकरनसर में एक युवक जमीन की खुदाई कर रहा था, तभी ग्यारह हजार केवी की लाइन की चपेट में आ गया। बुरी तरह झुलसे इस मजदूर को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। दरअसल, कपूरीसर के पास भारतमाला इंटरचेंज पूल के नीचे से पाइपलाइन डालते समय 39 वर्षीय मजदूर लालदास इसकी चपेट में आ गया। वो बुरी तरह झुलस गया। उसे तुरंत लूणकरनसर अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। कपूरीसर निवासी लालदास जल जीवन मिशन के तहत मंगलवार को कपूरीसर के पास भारतमाला इंटर चेंज के नीचे खाई खोदकर पानी की पाइप लाइन डाल रहा था।

महज दो फीट पर हाई टेंशन लाइन

बताया जा रहा है कि कपूरीसर की तरफ जाने वाली 11 हजार वोल्टेज लाइन जमीन से महज 1 से 2 फीट गहराई पर थी। इतनी कम गहराई पर बिजली की लाइन होने की संभावना नहीं थी। ऐसे में मजदूर उसकी खुदाई करता गया। इसी बीच उसका औजार 11 केवी लाइन की चपेट में आ गया। जिससे करंट खुद मजदूर तक जा पहुंचा।

लोगों ने जताया विरोध

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने जमकर विरोध दर्ज कराया। मजदूर को मुआवजा देने के साथ ही कई अन्य मांगे रखी गई है। घटना के बाद उपखंड अधिकारी राजेन्द्र कुमार, तहसीलदार रामनाथ शर्मा, जलदाय विभाग के सहायक अभियंता भरत तंवर, प्रधान कानाराम गोदारा,प्रभुदयाल सारस्वत, पंचायत समिति सदस्य महिपाल सिंह राठौड़, राजाराम धतरवाल, रामप्रताप सियाग,राकेश मूंड आदि भी मौके पर पहुंचे।