May 28, 2024

– 100 वर्ग फीट क्षेत्र का बाथरूम बना १५ लोगों का कब्रगाह
– खुशबू का 28वां जन्मदिन ही बना जिंदगी का आखिरी दिन
– 5 सस्पेंड, फडणवीस का ऐलान- बीएमसी कमिश्नर करेंगे जांच
– संसद में भिड़ीं शिवसेना-बीजेपी
मुंबई
यहां के सबअर्बन एरिया लोअर परेल के एक रेस्टोरेंट में गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात आग लग गई। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हादसे में अब तक 14 लोगों की मौत हो गई है। 30 से लोग गंभीर रूप से झुलसे हैं। इन्हें सायन और केईएम हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। जानकारी के मुताबिक, यह आग सेनापति बापट मार्ग की एक चार मंजिला बिल्डिंग में लगी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि लोगों की मौत दम घुटने से हुई। प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर दुख जताते हुए घायलों के जल्द ठीक होने की उम्मीद जताई है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, आग लगने की वजह अब तक साफ नहीं हो पाई है। जिस बिल्डिंग में आग लगी वो कमला मिल्स कम्पाउंड में है। मीडिया की कुछ खबरों में यहां एक बार होने की बात कही गई है। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई। ये आग गुरुवार रात 12 बजे के बाद लगी। बीएमसी का डिजास्टर मैनेजमेंट स्टाफ मौके पर पहुंचा और लोगों को वहां से निकालने की कोशिश की। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉ. राजेश डेरे ने कहा कि 14 लोगों की मौत दम घुटने से हुई। आग का असर कई टीवी चैनलों के ट्रांसमिशन पर भी पड़ा। ईटी नाउ, मिरर नाउ, जूम और टीवी9 मराठी का ट्रांसमिशन बंद कर दिया गया। ये सभी टीवी चैनल इसी कंपाउंड से टेलिकास्ट करते हैं। आग की वजह से उनको नुकसान ना हो, इसलिए ब्रॉडकास्ट बंद कर दिया गया। यहां पब और रेस्टोरेंट भी हैं। कई कॉर्पोरेट ऑफिस भी हैं। लोअर परेल इस इलाके में ऑफिस 24 घंटे खुले रहते हैं। इस बीच, मोजो मेस्त्रो रेस्टोरेंट के मालिक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्वीट करके कहा, “मुंबई की बिल्डिंग में आग लगने की घटना से दुख हुआ। हादसे में मारे गए लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। जो जख्मी हुए हैं, उनके जल्दी ठीक होने की कामना करता हूं। फायर ब्रिगेड और रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे लोगों की तारीफ की जानी चाहिए।”मोदी ने ट्वीट करके कहा, “हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। घायलों के जल्दी ठीक होने की कामना करता हूं।” न्यूज एजेंसी ने बीएमसी के सूत्रों के हवाले से कहा कि 14 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है। 20 से ज्यादा लोग गंभीर तौर पर झुलस गए हैं। इनमें से भी कुछ की हालत बेहद गंभीर है। तमाम घायलों को मुंबई के केईएम और सायन हॉस्पिटल्स में एडमिट कराया गया है। बीएमसी का डिजास्टर मैनेजमेंट स्टाफ फायर टेंडर्स, इमरजेंसी एम्बुलेंस और वॉटर टैंकर के साथ आग बुझाने में कामयाब हो गया है। बताया जाता है कि हादसे के वक्त करीब 50 लोग इस चार मंजिला बिल्डिंग के तीसरे फ्लोर पर मौजूद थे। यह एक कमर्शियल बिल्डिंग बताई गई है। यहां कुछ होटल्स भी हैं। टीवी चैनलों के मुताबिक, मारे जाने वाले लोगों में 11 महिलाएं जबकि तीन पुरुष हैं।
मुंबई के कमला मिल कंपाउंड में गुरुवार देर रात आग लग जाने की वजह से 15 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि जिन रास्तों से लोगों को बाहर निकलना था, वहां सिर्फ धुआं ही धुआं था। कुछ भी साफ तौर पर नहीं नजर आ रहा था, इसकी वजह से रेस्ट्रॉन्ट में लोग फंस गए। लाख कोशिशों के बाद भी वे लोग बाहर नहीं आ पाए। बचाव कार्य में शामिल एक फायरमैन ने बताया, ‘हमें सभी 15 शव एक बाथरूम में मिले जो कि तकरीबन 100 वर्ग फीट क्षेत्र में बना हुआ है। इसके साथ ही नीचे आने के लिए दो सीढ़ियां थीं। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि लोगों ने यहीं से निकलने की कोशिश की होगी। हालांकि, आगे एक सीढ़ी पूरी तरह से आग की चपेट में आ चुकी थी और दूसरी में कुछ भी साफ तौर पर नजर नहीं आ रहा था। पूरे क्षेत्र में धुआं ही धुआं था।’ इसी इमारत में अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए अगस्त में एक शेड को ध्वस्त कर दिया था। हालांकि, रेस्ट्रॉन्ट के एक और मालिक ने इसका फिर से निर्माण कार्य कराया था। मौके पर मौजूद फायर फाइटर्स ने बताया कि आग बुझाने का अभियान तकरीबन 3 घंटे से ज्यादा वक्त तक चला। इमारत में खास तौर पर तिरपाल, प्लास्टिक कवर आदि पड़ा हुआ था, जिसकी वजह से आग बुझाने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। अधिकारी का कहना है, ‘जिन रास्तों से बाहर निकलना था उसमें कुछ भी साफ तौर पर नहीं नजर आ रहा था, जिसकी वजह से रेस्ट्रॉन्ट में लोग फंस गए। इस पूरे मामले की जांच की जाएगी।’ इस बीच दो फायरमैन सीढ़ियों का इस्तेमाल करते हुए 30 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लाए, जो कि इमारत के अंदर फंसे हुए थे। घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है जिनमें दो की हालत गंभीर है। किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल (KEM) ने 15 लोगों की मौत की पुष्टि की है। पुलिस ने 1-अबव रेस्तरां के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत केस दर्ज कर लिया है। आग लगने की वजह का पता फिलहाल नहीं चल पाया है। आग पर काबू पा लिया गया है और कूलिंग का काम चल रहा है। दरअसल, हाल में खुला टेरेस बार ‘लंडन टैक्सी’ मुंबई युवाओं में बेहद लोकप्रिय है। दूसरी मंजिल की खुली छत को कुछ दिनों पहले ही ढक दिया गया था। निर्माण कार्य के बाद काफी बेकार लकड़ी भी पड़ी हुई थी। माना जा रहा है कि इसी वजह से आग ने भयावह रूप ले लिया।
‘धुएं की वजह से लोग नहीं निकल पाए बाहर ‘
अधिकारी का कहना है, ‘जिन रास्तों से बाहर निकलना था उसमें कुछ भी साफ तौर पर नहीं नजर आ रहा था, जिसकी वजह से रेस्ट्रॉन्ट में लोग फंस गए। इस पूरे मामले की जांच की जाएगी।’ इस बीच दो फायरमैन सीढ़ियों का इस्तेमाल करते हुए 30 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लाए, जो कि इमारत के अंदर फंसे हुए थे।
बेकार लकड़ी की वजह से आग बढ़ने की आशंका
घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है जिनमें दो की हालत गंभीर है। किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल (KEM) ने 15 लोगों की मौत की पुष्टि की है। पुलिस ने 1-अबव रेस्तरां के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत केस दर्ज कर लिया है। आग लगने की वजह का पता फिलहाल नहीं चल पाया है। आग पर काबू पा लिया गया है और कूलिंग का काम चल रहा है। दरअसल, हाल में खुला टेरेस बार ‘लंडन टैक्सी’ मुंबई युवाओं में बेहद लोकप्रिय है। दूसरी मंजिल की खुली छत को कुछ दिनों पहले ही ढक दिया गया था। निर्माण कार्य के बाद काफी बेकार लकड़ी भी पड़ी हुई थी। माना जा रहा है कि इसी वजह से आग ने भयावह रूप ले लिया।
खुशबू का 28वां जन्मदिन ही बना जिंदगी का आखिरी दिन
खुशबू मेहता को क्या पता था कि उनका 28वां जन्मदिन ही उनकी जिंदगी का आखिरी दिन होगा। जन्मदिन पर खुशबू ने मुंबई के कमला मिल्स कंपाउंड स्थित ‘1-अबव’ रेस्ट्रॉन्ट में पार्टी रखी थी। उसके करीबी रिश्तेदार और दोस्त जुटे हुए थे लेकिन किसी को क्या पता कि केक काटने के कुछ ही मिनट बाद जन्मदिन का जश्न मौत के मातम में बदल जाएगा। खुशबू उर्फ खुशी ने गुरुवार रात 12 बजे केक काटा और कुछ ही मिनट बाद भीषण आग लग गई जिसमें खुशी और उसके दोस्तों की दम घुटने से मौत हो गई।
5 सस्पेंड, फडणवीस का ऐलान- बीएमसी कमिश्नर करेंगे जांच
मुंबई की कमला मिल कंपाउंड में हुए हादसे की जांच बीएमसी कमिश्नर करेंगे। हादसे के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस हालात का जायजा लेने के लिए पहुंचे। सीएम फडणवीस ने इस दौरान कहा कि बीएमसी कमिश्नर को हादसे के कारणों की जांच करने के आदेश दिए गए हैं। सीएम ने बीएमसी पर सख्ती के संकेत दिए हैं।
घटनास्थल पर पहुंचे सीएम फडणवीस ने कहा, ‘बीएमसी कमिश्नर को जांच के निर्देश दिए गए हैं और बीएमसी के पांच जूनियर अफसरों को सस्पेंड किया गया है। ओनर्स के खिलाफ ऐक्शन लेने के अलावा उन लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी, जिनकी लापरवाही से हादसा हुआ। अगर बीएमसी की ओर से लापरवाही की बात सामने आती है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।’
इस मामले पर शिवसेना और बीजेपी के सांसदों के बीच लोकसभा में भी तीखी बहस हुई। कमला मिल कंपाउंड में मृत सभी लोगों के शव रेस्तरां के बाथरूम में मिले जो कि तकरीबन 100 वर्ग फीट क्षेत्र में बना हुआ है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि धुआं लोगों की मौत की वजह बना और जिन रास्तों से बाहर निकलना था उसमें कुछ भी साफ तौर पर नहीं नजर आ रहा था, जिसकी वजह से लोग रेस्तरां में फंस गए।
बता दें, कमला मिल कंपाउंड स्थित 1-अबव रेस्तरां, लंडन टैक्सी बार और मोजो पब में गुरुवार देर रात भीषण आग लग जाने से 15 लोगों की मौत हो गई और 16 लोग घायल हो गए। मरने वालों में 12 महिलाएं हैं। घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है जिनमें दो की हालत गंभीर है। किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल (KEM) ने 15 लोगों की मौत की पुष्टि की है। पुलिस ने 1-अबव रेस्तरां के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत केस दर्ज कर लिया है। आग लगने की वजह का पता फिलहाल नहीं चल पाया है। आग पर काबू पा लिया गया है और कूलिंग का काम चल रहा है।
अधिक आबादी से हादसा – हेमा का विवादित बयान
रिपोर्ट में कहा गया, ‘पब मैनेजमेंट की ओर से लापरवाही के चलते 15 कस्टमर्स की जान चली गई है और तमाम अन्य लोग जख्मी हो गए।’ पुलिस ने कहा कि हादसे के वक्त लोगों को जान बचाने की बजाया मैनेजर और अन्य स्टाफ भाग खड़े हुए। हालांकि बीएमसी के एक अधिकारी ने प्रशासन का बचाव करते हुए कहा कि इस पब पर नियमों के उल्लंघन को लेकर तीन बार कार्रवाई की गई थी।
संसद में भिड़ीं शिवसेना-बीजेपी
अधिकारी के मुताबिक इस पब को बीएमसी की ओर से अक्टूबर 2016 में आग से बचाव एवं अन्य सुरक्षा इंतजामों के लिए सर्टिफिकेट दिया गया था। उन्होंने कहा, ‘अतिक्रमण और अन्य तरह से नियमों के उल्लंघन की वजह से बीएमसी ने 1 अबव पब पर 27 मई को ऐक्शन लिया था। इस पब पर खुले स्थान का कमर्शल ऐक्टिविटीज के इस्तेमाल करने पर कार्रवाई की गई थी।’