April 14, 2024

मुंंबई में स्कूल-कॉलेज बंद

मुंबई।. दक्षिण भारत में भारी तबाही मचाने के बाद साइक्लोन ओखी ने मुंबई में दस्तक दे दी है। मुंबई और आसपास के इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। इस वजह से मंगलवार को मुंबई और उसके आसपास के जिलों के स्कूल और कॉलेजों में छुट्टी कर दी गई। उधर, ओखी अब दक्षिण गुजरात के सूरत की तरफ बढ़ रहा है। इसकी रफ्तार 100 किमी प्रति घंटा रहने के आसार हैं। यह मंगलवार देर रात तक गुजरात पहुंच सकता है।
मुंबई और उसके आसपास क्या असर दिखा ओखी का?
– बृहन्मुंबई महानगर पालिका की इमरजेंसी टीम ने लोगों से अपील की है कि वे चार से सात दिसंबर के बीच समुद्र तटों से दूर रहें। इस दौरान समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरें उठ सकती हैं। मुंबई के अलावा सिंधुदुर्ग, ठाणे, रायगढ़ और पालघर में भी साइक्लोन का असर दिखा।
आज गुजरात में दे सकता है दस्तक
– ओखी गुजरात की ओर भी बढ़ रहा है। इसके मंगलवार देर रात गुजरात के तटों से टकराने के आसार हैं। वेदर डिपार्टमेंट का कहना है कि जैसे ही यह तटों के करीब आएगा, इसकी ताकत कम हो जाएगी।
– ओखी सूरत के पास समुद्र तट को डीप डिप्रेशन के तौर पर पार कर सकता है। वेदर डिपार्टमेंट ने इसे बेहद ताकतवर कैटेगरी में रखा है।
– इन इलाकों में मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है। नुकसान को कम से कम करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।
भारी बारिश, तेज हवा चलने की आशंका
– दक्षिण गुजरात और उत्तर महाराष्ट्र के समुद्र तटीय इलाकों में 4 दिसंबर की रात से लेकर 6 दिसंबर की सुबह तक 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक तेज हवाएं चलेंगी।
– सूरत में मंगलवार से बुधवार की सुबह खतरे की आशंका ज्यादा है। वलसाड, सूरत, नवसारी, अमरेली, भावनगर और गिर सोमनाथ जैसे तटवर्ती जिलों में भारी बारिश की वॉर्निंग दी गई है।
ओखी का असर करीब 30 घंटे तक रहेगा। जमीनी हवा की रफ्तार अभी 25 से 35 किमी प्रति घंटा है। 6 दिसंबर को हवा की रफ्तार और कम हो जाएगी।
सूरत के 63 गांवों में अलर्ट
– सूरत के पास 63 गांवों में प्रशासन की ओर से अलर्ट जारी किया गया है। कई संवेदनशील इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें पहुंच कर जगह खाली करवाने में हुटी है। एसएमसी, पुलिस और प्रशासन अलर्ट मोड पर हैं।