February 25, 2024

माटी परियोजना खरीफ परिणाम विश्लेषित के दौरान गांवों में कृषि के सकारात्मक परिणाम आये सामने – डॉ उदयभान, संयुक्त निदेशक कृषि
एक्सपर्ट पैनल के सदस्यों द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट की समीक्षा

बीकानेर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद की पहल पर ‘माटी’ परियजना द्वितीय चरण के तहत जिले की पांच विधानसभा के चयनित 1250 किसानांे का खरीफ के सकारात्मक परिणाम मिले है।
संयुक्त निदेशक कृषि डॉ. उदय भान ने बताया कि इस दौरान गांवों के किसानों को मृदा स्वास्थ्य, जैविक एवं संरक्षित खेती, फसल विविधिकरण, पशुपालन, कीट एवं व्याधि प्रबंधन और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रति जागरुक करने तथा कृषि लागत मूल्य घटाने के साथ उत्पादन एवं आमदनी बढ़ाने के उद्देश्य के साथ जिले में ‘माटी’ परियोजना की द्वितीय चरण मे चयनित 1250 किसानों का खरीफ परिणाम एक्सपर्ट पेनल द्वारा विश्लेषित किया गया। चयनित इन किसानों के कृषि में सकारात्मक परिणाम आए है तथा माटी परियोजना के क्रियान्वयन से खरीफ में किसानों को हुए लाभ हुआ है।
इस संबंध में शुक्रवार को खरीफ परिणाम के विश्लेषण हेतु प्रोजेक्ट मैनेजमेंट टीम के एक्सपर्ट पैनल के सदस्यों द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट की समीक्षा कृषि भवन में आयोजित बैठक में की गई। संयुक्त निदेशक कृषि (विस्तार) डॉ उदयभान ने बताया कि कृषि उद्यानिकी एवं पशुपालन विभाग ने समन्वित प्रयास करते हुए चयनित किसानों की आय बढोतरी का सार्थक प्रयास किए है।
उप निदेशक कृषि (विस्तार) कैलाश चौधरी ने बताया कि जिले के पाँच विधानसभा क्षेत्र के 25 गांवों के 1250 किसानों को इसमें शामिल किया गया था। उन्होंने बताया कि खरीफ परिणाम विश्लेषण के बाद कृषि में माटी परियोजना के सकारात्मक परिणाम व किसानों की आय बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने बताया कि प्राप्त खरीफ परिणामों के विश्लेषण से माटी नवाचार का सकारात्मक परिणाम मिले है।
बैठक में संयुक्त निदेशक पशुपालन डॉ विरेन्द्र नेत्रा व उप निदेशक पशु-पालन डॉ रमेश दाधिच ने बताया कि पशु-पालन में भी इस परियोजना में चयनित गांवों में अच्छें परिणाम सामने आये है व किसानों की आय बढ़ी है। पशु क्रय ऋण हेतु प्राप्त पत्रावलियों पर बैंक के माध्यम से शीघ्र ही प्रार्थी को ऋण उपलब्ध करवाने की कार्यवाही की जावेगी।
बैठक में एक्सपर्ट पेनल सदस्य क्षेत्रीय निदेशक अनुसंधान डॉ एस.आर. यादव, एस.के.आर.ए.यू., डॉ एन.डी. यादव, निदेशक काजरी, कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ एस.पी. सिंह, सी.आई.ए.एच. वैज्ञानिक डॉ सी.पी. मीणा, जिला विस्तार अधिकारी डॉ रामकिशोर मेहरा इत्यादि के साथ चयनित गांवो के सहायक कृषि अधिकारी, कृषि पर्यवेक्षक मौजूद रहे। कृषि अधिकारी मुकेश गहलोत ने माटी परियोजना में अब तक की प्रगति पर विस्तृत प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया गया।
एक्सपर्ट पेनल में यह रहे शामिल-विधानसभा क्षेत्रवार कोलायत प्रभारी अधिकारी सुभाष विश्नोइ, लूणकरनसर में गिरिराज चारण, श्रीडूंगरगढ़ में यशवन्ती,नोखा में राजेश व अनिरूद्ध विश्नोई, खाजूवाला में राजूराम डोगीवाल एक्सपर्ट पेनल में शामिल थे।