March 5, 2024

शहर की बिजली व्यवस्था का ढर्रा बिगड़ा
बिजली कम्पनी से हो रही है शहरवासियों को परेशानी
बीकानेर।
राज्य सरकार की पहल को देखते हुए शहरवासियों को कुछ राहत की सांस मिली कि अब तो शहर की बिजली व्यवस्था में सुधार होगा। शहरवासियों को नियमित एवं सुचारू बिजली व्यवस्था मिलेगी एवं फाल्ट जैसी परिस्थितियों में शीघ्र निवारण होगा लेकिन जब से बिजली कम्पनी से शहर की बिजली की कमान संभाली से तब से शहर की बिजली व्यवस्था का ढर्रा पहले के मुताबिक और भी बिगड़ गया है। हालांकि शहर में बिजली व्यवस्था तो पहले भी चरमरा जाती थी लेकिन निगम कर्मचारियों द्वारा लम्बे समय से कार्य करने के कारण फाल्ट त्वरित गति से पकड़कर व्यवस्था में सुधार किया जाता है। निगम कर्मचारी शहर के होने के कारण उनसे सम्पर्क कर बिलजी व्यवस्था को दुरुस्त करवाया लिया जाता था लेकिन अब सब कुछ उलट-पुलट हो चुका है। कम्पनी की ओर कार्यरत अधिकांश कर्मचारी बाहरी क्षेत्र के होने के कारण सम्पर्क साधना व कार्यालयों में शिकायत के बाद भी समस्याओं को निवारण जल्द नहीं हो पा रहा है।
दावों की खुली पोल
निजी कम्पनी की कमान संभालने व उससे पूर्व ही शहरवासियों को निर्बाध एवं नियमित रूप से बिजली व्यवस्था मुहैया कराने के दावे तो कर दिए गए लेकिन बिजली कम्पन इन दावों पर खरा नहीं उतर पा रही है। कम्पनी कार्यालय में शिकायतों को लेकर परेशान उपभोक्ताओं की संख्या प्रतिदिन बढ़ती जा रही है लेकिन भी समस्याओं का समाधान समय पर नहीं हो पा रहा है। बिजली की समस्या को लेकर कई बार उपभोक्ताओं को कम्पनी कार्यालय के चक्कर निकालने पड़ रहे है।
जनरेटर सुविधा हुई फेल
निजी कम्पनी की ओर से शहर की बिजली व्यवस्था को संभालते शहर में फाल्ट निस्तारण एवं दुरुस्तीरण कार्य के दौरान एक घंटे से अधिक समय लगने पर क्षेत्रवासियों को जनरेटर के माध्यम से बिजली आपूर्ति का दावा किया था। जिसे निजी कम्पनी अब भुना नहीं पा रहा है। एक घंटा तो दूर की बात है शहरवासियों कों आए दिन अघोषित कटौतियों का सामना करना पड़ रहा है।
अधिकारी कामकाज से अनभिज्ञ
बिजली कम्पनी की ओर से शहर में होने वाले फाल्ट निस्तारण एवं दुरुस्तीरकण के कार्यों की जानकारी अधिकारियों को नहीं हो पाती है। इसके लिए बिजली कम्पनी अधिकारी से शिकायत दर्ज करने वाले पर स्वयं अनभिज्ञ बताया जाता है।
बिजली खंभों में करंट का डर
शहर में अधिकांश विद्युत पोल क्षतिग्रस्त अवस्था में है। जिससे उन विद्युत पोलों करंट की संभावना हर समय बनी रहती है। आवारा पशुओं के करंट से मरने के हादसे आए दिन सामने आते रहते है। इस संबंध में शहरवासियों द्वारा अधिकारियों को कई बार अवगत कराया जा चुका है।
अकुशल कर्मचारी
बिजली कम्पनी की ओर से शहर में फाल्ट निस्तारण एवं दुरुस्तीकरण के लगाए गए कर्मचारी नये व अकुशल होने के कारण उन्हें फाल्ट निस्तारण में अधिक समय लगता है। जिससे क्षेत्र की बिजली व्यवस्था बाधित रहती है।