April 14, 2024

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात प्रचार चुनाव के दौरान मंदिरों के ताबड़तोड़ दौरों का क्रम जारी रखते हुए भगवान शिव के द्वाद्वश ज्योतिर्लिंगों में से पहले सोमेश्वर महादेव के यहां समुद्र तट पर स्थित भव्य सोमनाथ मंदिर में दर्शन किया। दोपहर की आरती में भाग लेने के साथ ही जलाभिषेक भी किया। पिछले 25 सितंबर को अपने चुनावी अभियान की शुरूआत द्वारका के जगत मंदिर से करने वाले राहुल अब तक चोटिला चामुंडामाता मंदिर, कागवड के खोडलधाम, अंबाजी, बहुचरमाता मंदिर, गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर समेत 20  से अधिक मंदिरों के दौरे कर चुके हैं।

इसे लेकर बीजेपी तंज करती रही है। आज सोमनाथ के निकट ही प्राची में एक चुनावी सभा कर रहे पीएम मोदी ने कहा कि जब सरदार पटेल ने सोमनाथ मंदिर का जीणोर्द्धार कर रहे थे तो राहुल के परनाना जवाहरलाल नेहरू नाक भौं सिकोड़ रहे थे। तत्कालीन राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद को इस मौके पर आने का निमंत्रण मिलने पर नेहरू जी ने पत्र लिख कर नाराजगी जताई थी। उन्होंने कहा, ‘आज जिन्हें सोमनाथ दादा याद आ रहे हैं उन्हें पूछना है कि क्या उन्हें इस इतिहास का पता है।’

उधर राहुल ने मंदिर में दर्शन करने के बाद एक सभा को संबोधित किया तथा मोदी सरकार के विकास के दावे पर सवाल खड़े किये। उन्होंने सरकार पर उद्योगपतियों की मदद करने का आरोप दोहराया। उन्होंने दावा किया कि इस बार गुजरात में कांग्रेस की सरकार बनेगी। वह आज भेसाण, विसावदर और सावरकुंडला और अमरेली जायेंगे।

इससे पहले आज से अपने दो दिवसीय गुजरात दौरे के लिए दीव हवाई अड्डे पर उतरे राहुल वहां से सीधे हेलीकाप्टर के जरिये सोमनाथ पहुंचे और मंदिर में दर्शन किया। उन्होंने आगंतुक पुस्तिका में लिखी अपनी एक वाक्य की टिप्पणी में इसे एक बहुत ही प्रेरणादयक जगह बताया। उन्होंने मंदिर परिसर में सरदार पटेल की प्रतिमा पर फूल भी चढ़ाए और उनकी गैलरी का भी अवलोकन किया। मंदिर की ओर से उन्हें भगवान की शिव का चित्र और शाल भेंटस्वरूप दिया गया।