May 28, 2024

पति-पत्नी और बेटे ने किया सुसाइड, पपीते के ज्यूस में जहर मिलाकर पीया

जयपुर। एक परिवार के तीन सदस्यों ने सामूहिक सुसाइड कर लिया। आर्थिक तंगी और बीमारी से परेशान परिवार के सदस्यों ने जूस में जहर मिलाकर पी लिया था। सभी लोगों को बेहोशी की हालत में अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टर ने पति-पत्नी को मृत घोषित कर दिया और बेटे को भर्ती कर लिया। सोमवार को इलाज के दौरान बेटे ने भी दम तोड़ दिया। करधनी थाना पुलिस ने FSL टीम की मदद से मौके से सबूत जुटाए हैं। SHO उदयसिंह यादव ने बताया कि नवीन सैन (41), उनकी पत्नी सीमा सैन (39) और बेटा मयंक (14) ने पपीते के जूस में जहर मिलाकर पी लिया था। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो पति-पत्नी बेहोशी की हालत में थे, जबकि बेटे को होश था। तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टर ने नवीन और सीमा को मृत घोषित कर दिया, जबकि बेटे मयंक को गंभीर हालत में भर्ती कर लिया। मयंक ने इलाज के दौरान सोमवार को दोपहर करीब 3 बजे दम तोड़ दिया। पुलिस ने तीनों के शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। थानाधिकारी ने बताया- नवीन मूलतः गांव बसावा तहसील नवलगढ़ (झुंझुनूं) के रहने वाले थे। वह पिछले 10 साल से अपनी पत्नी और दो बेटों के साथ बालाजी विहार, निवारू रोड पर रहते थे। उनकी वैद्यजी का चौराहा पर मेडिकल की दुकान है, जिसे उनका बड़ा बेटा अनुराग संभालता है। उदयसिंह यादव ने बताया- प्रारंभिक जांच में सामने आया कि नवीन की दोनों किडनी खराब थी। बीमारी और मकान का कर्ज होने के कारण पूरा परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। रविवार रात को आर्थिक तंगी और बीमारी के चलते पति-पत्नी और बेटे ने पपीते के जूस में जहर मिलाकर पी लिया। रात करीब 10:30 बजे बड़ा बेटा अनुराग मेडिकल शॉप से घर पहुंचा तो गेट अंदर से बंद मिला। करीब 15 मिनट तक आवाज लगाने के बाद भी तीनों ने गेट नहीं खोला तो उसने पड़ोसियों को बुलाया। इसके बाद पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़ा और अंदर गए तो तीनों बेहोशी की हालत में मिले। तीनों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां पति-पत्नी को मृत घोषित कर दिया, जबकि इलाज के दौरान मयंक ने भी दम तोड़ दिया।