February 25, 2024

मंडी चैयरमेन पद पर रहते हुए भी कर चुके है कई कारनामें
बीकानेर। जिला देहात भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद से अपने कारनामों के कारण सुर्खियों में रहे कांग्रेसी ब्रांड सहीराम दुसाद ने आखिरकार बीकानेर भाजपा की छवि पर बदनामी का दाग लगा ही दिया। जानकारी में रहे कि कृषि मंडी चैयरमेन कार्यकाल के दौरान पद का दुरूपयोग कर मोटी कमाई के लिये अनेक कारनामों के कारण सुर्खियों में रहे सहीराम दुसाद का नया कारनामा गरीब पल्लेदारों के फर्जी खाते खुलवाकर उनमें साढे पांच करोड़ की धनराशी जमा करवाने के कारण सुर्खियों मेंं आने से बीकानेर में भाजपा की थोक के भाव फजीहत हो रही है। दुसाद का यह कारनाम उजागर होने के बाद बीकानेर भाजपा के शीर्ष नेताओं ने उनसे किनारा कर लिया है,बदनामी से बचने के लिये जिला देहात भाजपा संगठन के कई पदाधिकारियों ने भी इस्तीफे की तैयारी कर ली है। इधर जिला देहात भाजपा के संगठन प्रभारी केके विश्रोई का कहना है कि फर्ती खाते खुलवाने के इस मामले की संगठन स्तर पर जांच कराई जायेगी,जांच में दोषी पाये जाने पर दुसाद को पार्टी से निलम्बन किया जा सकता है। जानकारी में रहे कि सहीराम दुसाद अपने राजनैतिक काल के शुरूआती दौर से ही कांग्रेस खेमें में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी के नजदीकी होने रहे है,विगत विधानसभा चुनावों में रामेश्वर डूडी के सियासी इशारे पर ही दुसाद ने भाजपा का दामन थामने के बाद लूणकरणसर विधानसभा सीट से पार्टी टिकट की दावेदारी की थी,लेकिन भाजपा के प्रदेश नेतृत्व ने सहीराम की कांग्रेसी ब्रांड छवि को देखते हुए टिकट नहीं दिया। इससे खफा हुए सहीराम ने लूणकरणसर में भाजपा प्रत्याशी सुमित गोदारा के खिलाफ खुलकर भीतरघात किया। लूणकरणसर के सियासी गलियारों में सहीराम की भीतरघात के किस्से आज भी सुर्खियंा बने हुए है।
सियासी तिकड़बाजी में भी माहीर
सियासी तिकड़मबाजी में माहिर सहीराम दुसाद प्रदेश भाजपा की जाट लॉबी के शीर्ष नेताओं की मेहरबानी से डेढ साल पहले जिला देहात भाजपा अध्यक्ष बन गये। इसे लेकर बीकानेर भाजपा के दिग्गज नेताओं ने पुरजोर विरोध किया था,विरोध करने वाले नेताओं ने खुलकर बयान दिये थे कि कांग्रेसी ब्रांड सहीराम दुसाद का नाम कई कारनामों में शामिल रहा है,इन्हे जिला देहात अध्यक्ष बनाये जाने से भाजपा की बदनामी हो सकती है और यह बात अब भी सही भी साबित हो रही है क्योंकि पल्लेदारों के फर्जी खातों में साढे पांच करोड़ की धनराशि जमा कराने के ताजा कारनामें से भाजपा की खूब बदनामी हो रही है।
दिग्गज नेता हो रहे है शर्मसार
सहीराम दुसाद के नाम से जुड़ा नया कारनामा उजागर होने के बाद बीकानेर में पार्टी के उन नेताओं को शर्मसार होने पड़ रहा है जो भाजपा को घोटालेबाजी से मुक्त पार्टी होने का दंभ भरते है,अब भाजपा जिला अध्यक्ष पद पर आसीन नेता का नाम फर्जी खातों में साढे पांच करोड़ रूपये जमा कराने के ताजा मामले में उजागर होने के बाद पूर्व प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष नंद किशोर सोंलकी,प्रदेश कार्य समिति सदस्य बिहारी लाल विश्रोई,सुमित गोदारा,सहीराम विश्रोई समेत बीकानेर जिला देहात भाजपा से जुड़े ऐसे अनेक दमदार नेता शामिल है खुद को शर्मसार महसूस कर रहे है।
दर्ज होना चाहिए अपराधिक मुकदमा
इधर भ्रष्टाचार निरोधक संघर्ष समिति, बीकानेर के प्रतिनिधियों ने सहीराम दुसाद के ताजा कारनामें की उच्च स्तरीय जांच कार्यवाही के लिये मुख्यमंत्री श्रीमति वसुंधरा राजे और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी को ज्ञापन भेजकर अपराधिक मुकदमा दर्ज कराये जाने की मांग की है। ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि सहीराम दुसाद अपने खिलाफ उजागर हुए इस मामले को दबाने के लिये पुलिस प्रशासन पर सियासी दबाव बना सकते है,इसलिये इन्हे भाजपा से बर्खास्त कर पुलिस में अपराधिक मुकदमा दर्ज कर उच्च स्तरीय जांच कराई जाये।