March 5, 2024

मंत्री गोविन्द मेघवाल के इस बयान से टीचर्स नाराज, शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला के सामने मंच से जताया आक्रोश
बीकानेर। आपदा प्रबंधन मंत्री गोविन्दराम मेघवाल एक बार फिर विवाद में है। शिक्षक दिवस पर शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला के सामने एक शिक्षक नेता ने आरोप लगाया कि मेघवाल ने टीचर्स पर काम नहीं करने का आरोप लगाया है। हालांकि इस बारे में मेघवाल कोई बयान सार्वजनिक तौर पर सामने नहीं आया है। शिक्षक नेता का आरोप है कि मेघवाल ने कहा कि टीचर्स काम नहीं करते और फ्री की सैलेरी लेते हैं। उनके इस कथित बयान पर बीकानेर में शिक्षक संघ (शेखावत) के सम्मेलन में नाराजगी जताई गई। मंच से जब शिक्षक नेता गोविन्दराम के कथित बयान का विरोध कर रहे थे, तब शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला भी वहां मौजूद थे। हालांकि कल्ला ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।
सीकर के शिक्षक नेता उपेंद्र शर्मा ने आरोप लगाया कि गोविन्दराम मेघवाल ने एक जगह कहा है कि टीचर्स कोई काम नहीं करते। वो सिर्फ फ्री की सैलेरी उठाते हैं। एक मंत्री स्तर के नेता से इस तरह के बयान से टीचर्स नाराज है। उन्होंने कहा कि राज्यभर में हजारों की संख्या में सहायक कर्मचारी के पद खाली है। स्कूल्स में टीचर्स सिर्फ पढ़ा नहीं रहे हैं, बल्कि सहायक कर्मचारियों का काम भी कर रहे हैं।
जब शर्मा ने मंच से ये बात बोली तब शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला भी मंच पर थे। उन्होंने उपेंद्र शर्मा की बात तो सुनी लेकिन अपनी तरफ से कोई कमेंट नहीं दिया। मंच पर पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी भी थे। डूडी ने कार्यक्रम के बाद प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरकार भले ही कांग्रेस की रही, या फिर भाजपा की। वो स्वयं हमेशा शिक्षक संघ (शेखावत) के साथ रहे हैं। डूडी ने शिक्षकों की मांगों पर सहमति जताई लेकिन मेघवाल का नाम लेकर उन्होंने भी कुछ नहीं बोला।
राज्यभर से आए टीचर्स
शिक्षक संघ (शेखावत) के इस सम्मेलन में प्रदेशभर से संगठन के सदस्य पहुंचे थे। खासकर बीकानेर, सीकर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, जयपुर, जोधपुर सहित राज्य के अधिकांश जिलों का प्रतिनिधित्व इस सम्मेलन में देखने को मिला।