March 5, 2024

खत्म हुआ साल का आखिरी चंद्र ग्रहण : भारत में ग्रहण का असर आंशिक रहा; न्यूयॉर्क और सिडनी में दिखा ब्लड मून

नई दिल्ली। साल का आखिरी चंद्र ग्रहण खत्म हो गया है। भारत में इसका असर मंगलवार शाम 4.23 बजे से शुरू हुआ जो शाम 6.19 बजे समाप्त हो गया। यानी कुल मिलाकर ग्रहण का असर 1 घंटे 56 मिनट ही रहा। इसके साथ ही अब देशभर में मंदिरों के कपाट खुल जाएंगे और विधिवत आरती और पूजा शुरू हो जाएगी।
भारत में अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर में पूर्ण ग्रहण के साथ चंद्रोदय सबसे पहले देखा गया। दिल्ली में 5.28 बजे से और मुंबई में 6.01 बजे से आंशिक चंद्र ग्रहण शुरू हुआ। यह 6.19 बजे खत्म हो गया। इसके अलावा असम के गुवाहाटी, कोलकाता, रांची, पटना, लखनऊ में आंशिक तौर पर ही देखा गया।

2023 में होंगे 4 ग्रहण
2023 में कुल चार ग्रहण होंगे। इनमें दो सूर्य ग्रहण 20 अप्रैल और 14 अक्टूबर को और दो चंद्र ग्रहण 5 मई और 28 अक्टूबर को पड़ेंगे। हालांकि देश में सिर्फ एक आंशिक चंद्र ग्रहण ही दिखेगा जो 28 अक्टूबर को शरद पूर्णिमा के दिन होगा। 5 मई 2023 को पड़ने वाले चंद्र ग्रहण की धार्मिक मान्यता नहीं होगी।

अब जान लें विदेशों में कैसा दिखा चंद्र ग्रहण
दुनिया के बाकी देशों की बात करें तो चंद्र ग्रहण सबसे पहले दोपहर 2.39 बजे प्रशांत महासागर क्षेत्र में दिखा। इसके बाद यह अमेरिका होते हुए ऑस्ट्रेलिया और फिर जापान में देखा गया। अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में यह आधा दिख रहा था। कुछ देर बाद ही दोनों देशों में ब्लड मून दिखने लगा। हालांकि जापान में चंद्र ग्रहण आंशिक तौर पर ही देखा गया। ग्वाटेमाला में चंद्र ग्रहण आधा दिखा।

भारत के लिए यह चंद्र ग्रहण विशेष, 2040 में ऐसा संयोग
डॉ. गणेश मिश्र ने बताया कि 2022 से पहले सूर्य और चंद्र ग्रहण का ऐसा योग 2012 और 1994 में बना था। 2012 में 13 नवंबर को दिवाली पर सूर्य ग्रहण और 28 नवंबर को देव दिवाली पर चंद्र ग्रहण हुआ था। 1994 में 3 नवंबर को दिवाली पर सूर्य ग्रहण और 18 नवंबर को देव दिवाली पर चंद्र ग्रहण हुए थे।
अब ऐसा संयोग 18 साल बाद बनेगा। 2040 में 4 नवंबर को दिवाली पर आंशिक सूर्य ग्रहण (भारत में नहीं दिखेगा) और 18 नवंबर को देव दिवाली पर पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा, ये ग्रहण भारत में दिखेगा।