February 29, 2024

राहुल गांधी और भारत जोड़ो यात्रा की राजस्थान में एंट्री को लेकर आई ये बड़ी खबर

जयपुर। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के नेतृत्व की भारत जोड़ो यात्रा की राजस्थान में एंट्री से पहले सियासी पारा गरमाने लगा है। गहलोत-पायलट गुट के समर्थकों में गुटबाज़ी और खींचतान के साथ ही गुर्जर और ओबीसी आरक्षण को लेकर अलग-अलग समाजों के सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने से माहौल और ज़्यादा गर्माया हुआ है।इन सभी परिस्थितियों के बीच भारत जोड़ो यात्रा को राजस्थान से शांतिपूर्ण निकालना गहलोत सरकार और कांग्रेस संगठन के लिए चुनौती बना हुआ है।

एंट्री पॉइंट पर ही विरोध की तैयारी !
गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के बैनर तले विजय बैंसला गुट ने आरक्षण के लंबित मुद्दों को लेकर गहलोत सरकार के विरोध में मोर्चा खोल दिया है। समाज के इस गुट ने मांगे मनवाने के लिए ऐसा मौक़ा तलाशा है जब कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ लेकर राजस्थान में प्रवेश करने जा रहे हैं। गुर्जर नेता विजय बैंसला ने एमबीसी आरक्षण से जुड़े लंबित मुद्दों का समाधान नहीं निकाले जाने की स्थिति में राहुल गांधी और भारत जोड़ो यात्रा को राजस्थान में घुसने नहीं देने की चेतावनी दी हुई है।
जानकारी के अनुसार राहुल और यात्रा का विरोध जताने के लिए समाज का ये गुट तैयारियों में जुट गया है। विभिन्न ज़िलों के नेता अपने-अपने स्तर पर यात्रा का विरोध करने की रणनीति बना रहे हैं। माना जा रहा है कि गुर्जर समाज का ये गुट राहुल गांधी के राजस्थान प्रवेश के साथ ही एंट्री पॉइंट से विरोध जताना शुरू कर देगा।

रुट चार्ट में बदलाव की तैयारी, हरी झंडी का इंतज़ार
राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा को लेकर अभी भी फाइनल रुट चार्ट जारी होने का इंतज़ार है। अभी तक यात्रा के 3 दिसंबर को राजस्थान में प्रवेश करते हुए जो रुट चार्ट बताया गया था वो गुर्जर बाहुल्य क्षेत्रों से होकर गुज़र रहा था। लेकिन इस बीच गुर्जरों की यात्रा का विरोध जताने की चेतावनी के बाद इस रुट चार्ट में बदलाव की कवायद तेज़ हो गई है। यात्रा के रुट चार्ट में बदलाव के सिलसिले में राजस्थान के साथ ही केंद्रीय संगठन के नेता सक्रीय होते हुए अलर्ट मोड पर आ गए हैं।प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री रामलाल जाट, खान मंत्री प्रमोद जैन भाया और राजस्थान पर्यटन विकास निगम के चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ महाराष्ट्र दौरे के दौरान राहुल गांधी और भारत जोड़ो यात्रा के कॉर्डिनेटर्स से मुलाकात कर चुके हैं। वहीं कॉर्डिनेटर सचिन पायलट भी राजस्थान में यात्रा का रुट चार्ट फाइनल करने के लिए दिल्ली में अन्य नेताओं के साथ लगातार मंत्रणा कर रहे हैं।

रुट बदला तो गुर्जर बदलेंगे रणनीति
भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान रुट चार्ट में संभावित बदलाव पर गुर्जर समाज की भी नज़रें टिकी हुई हैं। विरोध का आह्वान कर चुके गुर्जर नेताओं ने साफ़ किया है कि भले ही भारत जोड़ो यात्रा के रुट में बदलाव किया जा रहा हो, लेकिन उनका विरोध तो होकर रहेगा। यात्रा को प्रवेश नहीं होने देने और गतिरोध उत्पन्न करने पर रणनीति बनाई जा रही है।

आसान नहीं होगा राजस्थान में ‘भारत जोड़ो’- चार बड़े कारण
– एमबीसी आरक्षण से जुड़ी लंबित मांगों पर गुर्जर समाज की चेतावनी
– पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की समर्थकों की मांग
– ओबीसी आरक्षण मुद्दे पर सरकार विरोधी आंदोलन
– बेरोज़गार युवाओं का विभिन्न मांगों पर जारी आंदोलन