February 22, 2024

रुपए नहीं देने पर झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी : वर पक्ष से की 3 लाख की मांग, पिता-बेटी सहित 4 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

हनुमानगढ़। हनुमानगढ़ के जंक्शन पुलिस थाने में एक व्यक्ति पर ब्लैकमेल करने का मामला दर्ज हुआ है। आरोपी ने अपनी बेटी का रिश्ता करने के बाद वर पक्ष से 3 लाख रुपए की मांग की। रुपए नहीं देने पर आरोपी ने झूठे मामले में फंसाने की धमकी दी। साथ ही आरोपी ने सगाई के समय दिए गए गहने हड़प लिए। मामले में जंक्शन थाना पुलिस ने लड़की के पिता, लड़की और उसके दोनों भाइयों के खिलाफ ठगी की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
हेड कॉन्स्टेबल जसवंत सिंह ने बताया कि पाना देवी (55) पत्नी सत्यनारायण भाट निवासी भट्ठा कॉलोनी, हनुमानगढ़ जंक्शन मामला दर्ज कराया है कि उसका बेटा विवाह योग्य है। कुछ महीने पहले रामलाल भाट निवासी गांव टोगाबास तहसील तारानगर चूरू उसके घर आया और उसने बताया कि वह अपनी लड़की का रिश्ता देखने के लिए हनुमानगढ़ आया है। उसे उसका लड़का पसंद है। रामलाल ने उसे परिवार के अन्य सदस्यों के साथ आकर लड़की देखने के लिए कहा। साथ ही कहा कि वह गरीब आदमी है, विवाह का सारा खर्चा उन्हें ही वहन करना होगा। इसके बाद 20 मार्च 2022 को रामलाल के बुलाने पर वे टोगाबास गांव गए। वहां उन्होंने रामलाल की बेटी श्वेता को पसंद कर लिया और रिश्ता पक्का कर लिया। जिसके बाद 10 जून को हनुमानगढ़ में सगाई का कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें पाना देवी ने श्वेता को चांदी की पाजेब, सोने की अंगूठी, सोने की चेन और 51 हजार रुपए नकद दिए। सारा खर्चा भी खुद उठाया।
उसके कुछ दिन बाद रामलाल उनके घर आया और शादी के खर्चे के लिए 5 लाख रुपए की मांग करने लगा। इस पर उसने और उसके परिवार के सदस्यों ने कहा कि उन्हें तो केवल लड़की चाहिए। वे चुन्नी ओढ़ाकर लड़की भेज देंगे तो भी उन्हें स्वीकार है। फेरे वे मन्दिर में करवा लेंगे। इस पर रामलाल ने कहा कि उसकी पहली बच्ची की शादी है। चुपके से करूंगा तो समाज के लोग तरह-तरह की बातें कर उसका और उसके परिवार का जीना दूभर कर देंगे। रामलाल कम करते-करते 3 लाख रुपए देने की बात पर अड़ गया। इस पर उसने और परिवार के सदस्यों ने अपने समाज और रिश्तेदारों को बुलाकर पंचायत की। पंचायत में उसके अलावा विनोद कुमार, कृष्णा देवी, रवीन्द्र बावरी आदि शामिल थे। पंचायत की ओर से रामलाल से समझाइश की गई तो रामलाल ने कहा कि 3 लाख रुपए तो आपको देने ही पड़ेंगे। नहीं तो वह अपनी लड़की की शादी उनके यहां नहीं करेगा और उसका रिश्ता किसी और जगह कर देगा। उनके समाज में तो यह प्रथा भी है कि लड़के वाले लड़की लेने के लिए वधू पक्ष को रुपए देते हैं। तब पंचायत से बातचीत कर उसे और उसके परिवार की ओर से रामलाल को रुपए देने से इनकार कर दिया गया। जब उन्होंने सगाई में दिए गए सोने-चांदी के गहने और रुपए रामलाल से वापस मांगे तो उसने कहा कि वह गहने भूल जाएं। जिसके बाद रामलाल ने उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। रामलाल ने कहा कि पहले भी उन्होंने उन जैसे कई लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनसे रुपए वसूलें हैं। वहीं मामले में पुलिस ने रामलाल, उसकी बेटी श्वेता, बेटे सन्दीप और जयदीप भाट के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।