April 23, 2024

दहेज के लिए मारपीट से परेशान विवाहिता फंदे से झूली, 2 साल पहले हुई थी शादी, ससुराल वाले ननद के विवाह के लिए मांग रहे थे 7 लाख

हनुमानगढ़। दहेज के लिए बार-बार मारपीट करने से परेशान होकर एक विवाहिता ने फंदे से लटककर सुसाइड कर लिया। इसके बाद ससुराल के लोग उसको अस्पताल पहुंचाकर फरार हो गए। पुलिस ने मृतका के परिजनों को सूचना दी तब वे अस्पताल पहुंचे। पीहर पक्ष के लोग ससुराल वालों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर बुधवार को अस्पताल के बाहर धरने पर बैठ गए। मामला हनुमानगढ़ जिले के पल्लू थाना इलाके का है।

नोहर सीओ ईश्वर सिंह और पल्लु थाना प्रभारी बिशन सहाय पल्लू सीएचसी के बाहर धरने पर बैठे परिजनों को समझाइश करने में जुटे हुए हैं। पुलिस ने दहेज हत्या और आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर विवाहिता के पति को हिरासत में ले लिया है। वहीं, विवाहिता के परिजनों ने मृतका को फंदे पर लटकाने का भी आरोप ससुराल पक्ष पर लगाया है। उन्होंने कहा कि मृतका की बहन की शादी इसी महीने होने वाली थी इस कारण दहेज में 7 लाख रुपए की मांग कर रहे थे। एफएसएल टीम ने मौका निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए। वहीं, मेडिकल बोर्ड का गठन कर पोस्टमॉर्टम करवाया जा रहा है।

2 साल पहले हुई थी शादी
पल्लु थानाप्रभारी बिशन सहाय ने बताया कि श्यामसुन्दर (50) पुत्र देवीलान सोनी निवासी मेहरी पीएस भालेरी जिला चूरू हाल निवासी वार्ड नं. 23 सरदारशहर जिला चूरू ने मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट दी कि मेरी पुत्री अंजना उर्फ अंजू (22) की शादी 24 मार्च 2022 को संजय (25) पुत्र सोहन लाल सोनी निवासी मोटेर हाल पल्लु हनुमानगढ़ के साथ हुई थी।

ससुराल पक्ष को दिए थे एक लाख
पीड़िता के पिता ने रिपोर्ट में बताया कि उन्होंने शादी में अपनी हैसियत से भी ज्यादा दान-दहेज दिया था। उन्होंने बताया कि शादी के बाद से ही मेरी पुत्री अंजू को उसके पति संजय, अंजू की सास सुमित्रा (सरकारी टीचर) और अंजू की ननद रचना ने रुपयों की मांग करते हुए मारना-पीटना शुरू कर दिया। जिसके बाद मैने करीब एक साल पहले उक्त तीनों संजय, अंजू की सास और ननद रचना को एक लाख रुपए दिए। इसके बावजूद भी उनकी मांग बंद नहीं हुई।

मारपीट कर नहीं देते थे खाना
रुपयों को लेकर मेरी पुत्री अंजू उर्फ अंजना को तीनों बहुत बुरी तरह से मारपीट करते थे। खाना भी नहीं देते थे। कमरे में बंद कर देते थे। उक्त सारी घटनाएं अंजू मुझे, मेरी पत्नी, मेरे बड़े भाई पवन कुमार और मेरे छोटे भाई चुनीलाल को बताती थी। जिस पर हमने कई बार अंजना के पति संजय, अंजू की सास और उसकी ननद रचना को समझाया। दहेज के रुपए की मांग में संजय की नानी अंग्रेज कोर भी शामिल थी।

ननद की शादी होने पर मांग रहे थे 7 लाख रुपए
पीड़िता के पिता ने बताया कि करीब दस दिन पहले जब मेरी पुत्री अंजना उर्फ अंजू को पल्लू उसके ससुराल छोड़ने आया। तब अंजना के पति संजय, सास सुमित्रा और ननद रचना ने कहा कि 18 अप्रैल की हमारे शादी है। हमें हर सूरत में एक सप्ताह के अंदर-अंदर सात लाख रुपए देने होंगे। वरना कभी जिंदगी में अपनी पुत्री अंजना का मुंह नहीं देखोगे। मृतका के पिता ने बताया कि मैं उनके सामने रोया और गिड़गिड़ाया और कहा कि मैं गरीब आदमी हूं। तब वो तीनों बोले कि सात दिन इंतजार करेंगे तब मैंने उक्त तीनों के द्वारा की गई अवैध सात लाख रुपए की मांग के बारे में मेरी पत्नी और भाइयों को बताया। इसके बाद हमारे पास संजय के मामा का फोन आया कि आप की पुत्री अंजना इस दुनिया में नहीं रही।

एफएसल टीम ने जुटाए साक्ष्य, पति राउंडअप
पल्लु थानाप्रभारी बिशन सहाय ने बताया कि पुलिस ने घटनास्थल को सीज कर दिया है। वहीं, एफएसएल टीम को मौके पर बुलाकर साक्ष्य जुटाए गए हैं। सहाय ने बताया कि मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है। मेडिकल बोर्ड से मृतका का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। वहीं, मामले में पल्लु पुलिस ने मृतका के पति को राउंडअप कर लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा अन्यों की संलिप्तता की जानकारी जुटाने में पुलिस लगी हुई है।

एक साल के बेटे के सिर से उठा मां का साया
जानकारी के अनुसार मृतका के एक बेटा है। जिसकी उम्र करीब एक साल है। जिसके सिर से अब मां का साया उठ चुका है। वहीं, पिता को भी पुलिस ने दहेज हत्या और आत्महत्या दुष्प्रेरण मामले में राउंडअप कर लिया है। अब एक साल का मासूम बेटा माता-पिता दोनों के प्यार से मरहूम हो गया है।

ज्वेलरी शॉप है आरोपी पति, बहन की शादी इसी महीने
जानकारी के अनुसार मृतका का पति पल्लु कस्बे में ज्वेलरी शॉप चलाता है। जिसकी शादी 2 साल पहले ही मृतका अंजू के साथ हुई थी। वहीं, इसी महीने की 18 तारीख को मृतका की ननद की शादी तय की गई थी। अब भाभी की आत्महत्या के बाद उसके भाई को भी पुलिस ने राउंडअप कर लिया है। मृतका के पीहर पक्ष ने ननद पर भी प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। मामले की जांच सीओ नोहर ईश्वर सिंह कर रहे हैं।