February 22, 2024

राजस्थान में बदला मौसम का मिजाज, बारिश के साथ गिरे ओले, झोपड़ी पर गिरी आकाशीय बिजली

जयपुर। राजस्थान में मंगलवार को मौसम का मिजाज बदल गया। प्रदेश में ज्यादातर जगहों पर दिनभर बादल छाए रहे। दिनभर रुक-रुक कर पूर्वी हवाएं चलने से सूरज दुबका नजर आया। कई स्थानों पर कहीं तेज के साथ ओले गिरे तो कहीं हल्की बूंदाबांदी हुई। वहीं सादुलपुर के गांव ढ़ढाल रोड़ पर आकाशीय बिजली गिरने से बावरियों की एक झोपड़ी में आग लग गई। जिससे झोपड़ी में खाने पीने का सामान व नकदी आदि जलकर राख हो गया। वहीं राजधानी जयपुर शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बरसात के साथ ओलावृष्टि भी हुई। जयपुर के पास चौमूं, गोविन्दगढ़, खेजरोली में तूफानी बरसात के बाद ओले गिरे। जिससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई और सर्दी बढ़ गई है। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ का असर दस नवम्बर तक रहेगा। अगले चौबीस घंटे के दौरान गंगानगर, हनुमानगढ़ व चूरू जिले में कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है।

श्रीमाधोपुर व खाटूश्यामजी इलाके में गिरे ओले
खाटूश्यामजी कस्बे के बाहरी इलाकों में तेज अंधड़ और ओलावृष्टि का दौर रहा। तेज अंधड़ के चलते अलोदा रोड पर सीता कुंड के पास चौथूराम मील का ग्रीन हाउस धराशाही हो गया, जिससे किसान को लाखों का नुकसान हो गया। इधर मंढा रोड पर बसे किसान भगवान सहाय ने बताया कि उनके सहित आसपास के खेतों में चने के आकार के ओले गिरे। इससे फसलों पर चादर सी बिछ गई। बूंदाबांदी के बाद सर्दी का असर तेज हो गया। मूंडरू क्षेत्र के कई गांवों में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। कोलवा लिसाडिय़ा व सीमारला गांवों में जमकर ओले गिरे। किसानों के टमाटर, टिंडा सहित सब्जी की फसलों में नुकसान हुआ है।

गिरेगा पारा, बढ़ेगी सर्दी
मौसम विभाग और स्काईमेट वेदर रिपोर्ट के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के असर से प्रदेश में सर्दी का असर बढ़ेगा। पश्चिमी विक्षोभ का अगले चौबीस घंटे तक असर रहेगा। उसके बाद वापस उत्तरी हवाएं मैदानी इलाकों में आने लगेगी। इससे पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तापमान गिरने लगेगा। पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी के बाद चलने वाली उत्तरी हवाओं के अगले तीन से चार दिन में शेखावाटी के तीनों जिलों में तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे चला जाएगा।