February 25, 2024

बीकानेर। शहरों की तरह अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी मोबाइल सुविधा मजबूत होने वाली है। राज्य सरकार गांवों को भी फ्री वाई-फाई सुविधा से लैस करने जा रही है। गांव-गांव तक वाई-फाई सिग्नल पहुंचाने की योजना को जल्द ही अमली जामा पहनाए जाने की कवायद शुरू हो चुकी है। मुख्यमंत्री की बजट घोषणा पर सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग ने कवायद शुरू कर दी है। गांवों को इंटरनेट से जोडऩे के लिए सरकार ग्राम पंचायत स्तर पर अटल सेवा केंद्र और जिला ब्लॉक स्तर के आईटी केंद्रों तक वाई-फाई सिग्नल पहुंचाने के लिए प्रदेश भर में आरएफ टावर लगवाएगी। इन आरएफ टावर के लिए सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा प्रदेश भर में जगह की तलाश की जा रही है। विभाग की ओर से इसका जिम्मा राजकॉम इन्फो सर्विसेज लिमिटेड द्वारा राजनेट परियोजना के तहत दिया गया है। आरआईएसएल की ओर से ग्राम पंचायत स्तर पर वाई-फाई सिग्नल पहुंचाने के लिए 40 मीटर ऊंचे आरएफ टावर स्थापित किए जाएंगे। एक टावर से करीब 10 किलोमीटर क्षेत्र तक सिग्नल प्रसारित हो सकेंगे। इसके बाद दूसरे टावर के सिग्नल मिल जाएंगे। बीकानेर के ग्रामीण अंचलो समेत पूरे प्रदेश में 340 आरएफ टावर लगाए जाएंगे। विभाग और राजकॉम की ओर से प्रदेश स्तर पर 2 फर्मों को टावर लगाने का काम दिया गया है। जिसमें रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा बीकानेर,जयपुर,अजमेर और जोधपुर संभाग में टावर स्थापित किए जाएंगे। विभाग ने प्रत्येक टावर के लिए कलेक्टर के माध्यम से 20 गुणा 20 फीट साइज की जगह मांगी है। अनुमान के अनुसार बीकानेर जिले में सभी पंचायत मुख्यालयों तक सिग्नल पहुंचाने के लिए करीब 40 से ज्यादा टावर स्थापित किए जाएंगे।