May 21, 2024

मांगे नहीं मानने पर आगामी दिनों में होगा कुलपति का घेराव
एनएसयूआई ने दिया जिला कलक्टर को ज्ञापन
बीकानेर
। फीस वृद्धि के विरोध में चल रहे छात्रों के आंदोलन ने अब उग्र रूप धारण कर लिया है। जिसके चलते एनएसयूआई के आह्वान पर आज संभागभर के छात्र डूंगर महाविद्यालय से रैली निकालकर कलक्टरी पहुंचे। वहां उन्होंने राज्य सरकार व विश्वविद्यालय के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए रोष जताया। प्रदर्शन के दौरान एनएसयूआई के प्रतिनिधि मंडल की ओर से जिला कलक्टर के मार्फत मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। एनएसयूआई जिलाध्यक्ष रामनिवास कूकणा ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से छात्र वर्ग पर फीस बढ़ोतरी का बेबुनियादी भार डाला जा रहा है। जिससे वहन नहीं किया जाएगा। फीस वृद्धि के विरोध में पिछले कुछ दिनों चल रहे आंदोलन के बाद भी विश्वविद्यालय प्रशासन एवं राज्य सरकार की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया है। एनएसयूआई की ओर से भंयकर सर्दी के बीच दिन-रात अनिश्चतकालीन धरने के माध्यम से विरोध जताया जा रहा है लेकिन इस पर विश्वविद्यालय हठधर्मिता का रवैया अपनाकर बैठा है। रामनिवास ने बताया कि वर्तमान सरकार के चार वर्ष पूर्ण होने पर जहां एक ओर जश्र मनाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर सरकार की हठधर्मिता के आगे देश के युवाओं को अध्ययन छोड़कर आंदोलन पर उतरना पड़ा है। युवा वर्ग के साथ किए जा रहे इस प्रकार के खिलवाड़ को अब सहा नहीं जाएगा। आगामी चुनावों में युवा पीढ़ी की ओर से इसका जवाब दिया जाएगा। रामनिवास ने बताया कि आगामी ५-६ दिनों छात्रों की मांगों को नहीं माना गया तो हमें मजबूरन आर-पार की लड़ाई लडऩे पर मजबूर होना पड़ेगा। वहीं आगामी दिनों विश्वविद्यालय कुलपति का घेराव फीस वृद्धि का विरोध जताया जाएगा।
सर्द हवाओं के बीच जारी धरना
फीस वृद्धि के विरोध में एनएसयूआई जिलाध्यक्ष रामननिवास कूकणा के नेतृत्व में राजकीय डूंगर महाविद्यालय में चल रहा अनिश्चतकालीन धरना आज १2वें दिन भी जारी रहा। इन दिनों में बढ़ रही सर्दी के बावजूद भी रात्रि के समय भी छात्र कभी अलाव तपकर के सहारे रात गुजार रहे है। इस पर छात्रों ने बताया कि मांगे पूरी नहीं होने तक धरना जारी रहेगा।