February 29, 2024

उपचुनाव के तीन सीटों पर आए रिजल्ट को भले ही भाजपा और सत्ता में बैठे लोग नहीं समझ पाए हो लेकिन सट्‌टा बाजार ने तीन सीटों पर मतदाताओं का रूख भांप लिया था। सट्‌टा बाजार में शुरु से ही कांग्रेस की जीत बता रहा था। खासकर आखिरी दिनों में तो अजमेर और अलवर के लिए कांग्रेस के भाव कम हो गए थे और भाजपा के बढ़ गए थे। रिजल्ट से एक दिन पहले शेखावटी का सट्‌टा बाजार पूरी तरह आश्वस्त हो चुका था कि कांग्रेस की तीनों सीटें आएगी। इसे देखते हुए राज्य की तीन सीटों पर 500 करोड़ का सट्‌टा लग चुका था।
तीनों सीटों पर हुए उपचुनाव की जो बात सत्ता नहीं समझ पाई वह सट्टा बाजार पहले से ही समझ गया था। सट्टा बाजार शुरू से तीनों सीटों पर कांग्रेस को विजेता बताता रहा, लेकिन सरकार अंदर की इस हवा को नहीं समझ पाई। सट्टा बाजार की रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस को दूदू में 25 से 30 हजार, केकड़ी में 15 से 20 हजार, अजमेर नॉर्थ में 20 से 25 हजार की लीड बताकर कांग्रेस की इस सीट पर करीब 30 हजार वोटों से जीत बताई थी।
असली आंकड़ों में कांग्रेस को सभी 8 विधानसभा सीटों पर बढ़त मिली। इसी तरह अलवर में कांग्रेस की तिजारा से 20 हजार, मुंडावर में 12 से 15 हजार, बहरोड में 25 से 30 हजार किशनगढ़ बास से 7 से 10 हजार की लीड बताते हुए कांग्रेस की 15 से 25 हजार वोटों से जीत बताई थी। लेकिन असली परिणाम में सभी 8 सीटों पर कांग्रेस ने बीजेपी पर बढ़त बना ली।