February 25, 2024

नई दिल्ली
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने नेविगेशन सैटेलाइट आईएनआरएसएस-1आई को लॉन्च कर दिया है। इसरो ने इसे पीएसएलवी-सी41 रॉकेट के जरिए आंध्र के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से सुबह 4.04 बजे लॉन्च किया। जीसैट-6ए को अंतरिक्ष में भेजने के दो हफ्ते बाद इसरो ने इस सैटेलाइट को लॉन्च किया है। हालांकि इसरो का कम्युनिकेशन सैटेलाइट जीसैट-6ए सफल नहीं हो पाया था।
आईएनआरएसएस-1आई ‘मेक इन इंडिया’ प्रोजेक्ट के तहत स्वदेशी तकनीक से बनाया गया नेविगेशन सैटेलाइट है। आईएनआरएसएस-1आई, आईआरएनएसएस-1 सीरीज के आईएनआरएसएस-1एच सैटेलाइट की जगह लेगा। इस सैटेलाइट की लॉन्चिंग पिछले साल 31 अगस्त को फेल रही थी। ये सैटेलाइट भारतीय नेविगेशन मैप सिस्टम नाविक की ताकत बढ़ाएगा। नाविक (NavIC) के तहत भारत ने 8 सैटेलाइट लॉन्च किए हैं। इसमें आईएनआरएसएस-1एच को छोड़कर बाकी सभी सफल रहे। इस सैटेलाइट की मदद से नक्शा बनाने, समय के सटीक आंकलन, नेविगेशन और समुद्री नेविगेशन में मदद मिलेगी। ये नेविगेशन सैटेलाइट सेना के लिए भी बहुत फायदेमंद बताया जा रहा है क्योंकि इससे सेना को नेविगेशन में मदद मिलेगी।