February 22, 2024

बीकानेर। नए साल 2018 में दो खग्रास चंद्रग्रहण और तीन सूर्य ग्रहण होंगे। तीनों ही सूर्यग्रह भारत में नहीं दिखेंगे। दोनों चंद्रग्रहण पूरे देश में दिखाई देंगे। पहला चंद्रग्रहण माघी पूर्णिमा के दिन 31 जनवरी को पड़ेगा। यह 3 घंटे 23 मिनट तक रहेगा। यह ग्रहण पुष्प अख्लेशा नक्षत्र और कर्क राशि में लगेगा। दूसरा चंद्र ग्रहण 27 जुलाई को 3 घंटे 55 मिनट तक रहेगा। यह उत्तराषाढ़ा श्रवण नक्षत्र और मकर राशि में होगा। इन इस दिन गुरु पूर्णिमा होने के साथ हरी श्रावण मास का शुभारंभ भी होगा। चंद्रग्रहण का सूतक 9 घंटे पहले लग जाता है। 31 जनवरी को सुबह 8.18 बजे से सूतक लग जाएगा। वहीं 27 जुलाई को दोपहर 2.54 बजे से सूतक लगेगा। पिछले साल 7 अगस्त को खंडग्रास चंद्र ग्रहण था। पूरे वर्ष में केवल यह एक ही खंडग्रास चंद्रग्रहण था। गत वर्ष 21 अगस्त को सूर्य ग्रहण भी था, लेकिन वह भारत में दृश्य नहीं था। इससे भी पहले वर्ष 2016 में एक भी चंद्र ग्रहण नहीं था, लेकिन 9 मार्च को आंशिक सूर्यग्रहण था।
15 फरवरी को सूर्य ग्रहण
पहला खंडग्रास सूर्य ग्रहण 15 फरवरी को भारतीय समय के अनुसार दोपहर 12.25 बजे से रहेगा। दूसरा खंडग्रास 13 जुलाई को होगा, लेकिन दोनों भारत में नहीं दिखाई देंगे। यह सुबह 7.19 बजे शुरू होगा। तीसरा सूर्यग्रहण 11 अगस्त को दोपहर 1.32 बजे शुरू होगा, ये भी भारत में दिखाई नहीं देगा। ज्योतिषशास्त्री गेवरचंद भादाणी के अनुसार जो ग्रहण भारत में दिखाई देता है वही मान्य होता है। दिखाई नहीं देने से ये तीनों ही ग्रहण मान्य नहीं होंगे।
दोनोंपूर्णिमा को नहीं देख पाएंगे पूरा चांद
पंडित गेवर चंद ने बताया कि 31 जनवरी बुधवार को माघ शुक्ल पूर्णिमा पर ग्रस्तोदित खग्रास चंद्रग्रहण रहेगा। ये भारत समेत यूरोप एशिया के कई देशों में दिखेगा। इस दिन पूर्णिमा भी रहेगी। दूसरा चंद्र ग्रहण 27 जुलाई को आषाढ़ शुक्ल में होगा। इस दिन गुरु पूर्णिमा रहेगी। ये भारत समेत आस्ट्रेलिया कई अन्य देशों में दिखाई देगा।