April 23, 2024

बीकानेर। जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ के गच्छाधिपति आचार्यश्री जिन मणिप्रभ सूरिश्वरजी की निश्रा में भुजिया बाजार के श्रीचिंतामणि आदिनाथ जिनालय में पांच सौ से दो हजार से अधिक वर्ष प्राचीन 1116 प्रतिमाएं जैन विधि विधान से निकाली गई। मंदिर में पांच दिवसीय प्राकट्य महोत्सव के दूसरे दिन प्राचीन प्रतिमाओं के दर्शन के लिए श्रद्धालु देशभर के अलग-अलग स्थानों से पहुंच रहे है। आज सुबह सुवर्ण, रजत, कांस्य कलश से परमात्मा का अभिषेक, पूजन, गुरुदेव का प्रवचन व विजय मुर्हूत में भक्तामर महापूजन हुआ। जिसमें पूजन झंवर लाल, कस्तुरी देवी, मनोजकुमार सेठिया परिवार की ओर से किया गया। महोत्सव में श्री चिंतामणि जैन मंदिर प्रन्यास के साथ सकलश्रीसंघ, जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ संघ, अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद व महिला परिषद की स्थानीय इकाई का सहयोग तथा पार्श्वचन्द्रगच्छ के मुनि पुण्यरत्नचन्द्र, तपागच्छ के पंन्यास प्रवर पुण्डरीकरत्न विजय तथा साध्वीवृंद का सान्निध्य मिल रहा है। दूसरे दिन भी बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाओं ने दर्शन किए।
सुरक्षा व्यवस्था : मूर्तियों की सुरक्षा के लिए पुलिस के हथियारबंद सिपाही चौबीस घंटें मंदिर में तैनात रहेंगे। मंदिर के द्वार पर मैटल डिटेक्टर की भी व्यवस्था की गई है। मूर्तियों को निकालने व उनके अभिषेक में युवक परिषद व श्रद्धाभावी श्रावक-श्राविकाओं का अनुकरणीय योगदान रहा।