February 29, 2024

राजस्थानियों के जिम्मे गुजरात का समर, कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में राजस्थान के यह नेता शामिल

जयपुर। कांग्रेस ने गुजरात चुनाव के लिए 40 स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी कर दी है। इनमें राहुल गांधी, सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे सहित 40 नेताओं को गुजरात चुनाव के लिए स्टार प्रचारक बनाया गया है। राजस्थान से इनमें 4 नेताओं को स्टार प्रचारक बनाया गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, गुजरात के प्रभारी रघु शर्मा और राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा को स्टार प्रचारक बनाया गया है।
इनके अलावा राजस्थान से किसी अन्य नेता को स्टार प्रचारकों की सूची में जगह नहीं दी गई है। अशोक गहलोत, सचिन पायलट और पवन खेड़ा हिमाचल प्रदेश के चुनाव में भी कांग्रेस के स्टार प्रचारक थे। सचिन पायलट को एक बार फिर बगैर किसी पद पर होते हुए भी पार्टी ने स्टार प्रचारक का जिम्मा दिया है। पायलट को लगातार कांग्रेस प्रचार के लिए देशभर के राज्यों में भेजती रही है।

लोकसभाओं में ऑर्ब्जवर भी राजस्थानी
इसके अलावा कांग्रेस ने राजस्थान से कई मंत्रियों-विधायकों को गुजरात में अलग-अलग लोकसभा के लिए ऑब्जर्वर बनाया है। ज्यादातर लोकसभा ओं में राजस्थानी नेताओं को जिम्मेदारी दी गई है।
शाले मोहम्मद को कच्छ, उदयलाल आंजना को बनासकांठा, रामलाल जाट को पाटन, नीरज डांगी को मेहसाना, रतन देवासी को साबरकांठा, सुरेश मोदी को गांधीनगर, अमीन कागजी को अहमदाबाद पश्चिम, प्रमोद जैन भाया और पानाचंद मेघवाल को राजकोट, रामपाल शर्मा को पोरबंदर, राजेंद्र सिंह को जामनगर, करण सिंह यादव और महेंद्र गहलोत को जूनागढ़, सुखराम विश्नोई को अमरेली, भंवर सिंह भाटी को भावनगर, ताराचंद भगोरा को पंचमहल, महेंद्रजीत मालवीया को दहोद, अशौक बैरवा को वड़ोदरा, अर्जुन सिंह बामनिया को छोटा उदयपुर, गोविंदराम मेघवाल को भरूच और रामलाल मीणा को बर्डोली लोकसभा का ऑर्ब्जवर बनाया गया है।

पायलट लगातार स्टार कैम्पेनर, खेड़ा का उदयपुर कनेक्शन
राजस्थान से सचिन पायलट को बाहरी राज्यों में लगातार स्टार कैम्पेनर बनाया जा रहा है। वहीं अशोक गहलोत को सीएम होने के चलते स्टार कैम्पेनर बनाया जाता है। वहीं गुजरात के प्रभारी होने के चलते रघु शर्मा भी इस लिस्ट में हैं। वहीं प्रवक्ता पवन खेड़ा को उदयपुर का मूल निवासी होने और प्रखर वक्ता होने के चलते भी जगह दी गई है।

सुरजेवाला, थरूर, तिवारी के नाम गायब
गुजरात के स्टार प्रचारकों की लिस्ट से कई बड़े नाम गायब हैं। इनमें शशि थरूर, रणदीप सुरजेवाला, आनंद शर्मा और मनीष तिवारी को इसमें जगह नहीं दी गई है। यह चर्चा का विषय है। राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे भी गुजरात में प्रचार करेंगे। कांग्रेस जल्द अपना प्रचार अभियान शुरू करेगी। राहुल गांधी 22 नवम्बर से गुजरात में सभाएं करेंगे।

गुजरात में राजस्थानी मूल के मतदाताओं की संख्या काफी
गुजरात की आबादी करीब साढ़े छह करोड़ है। जिनमें से करीब एक करोड़ लोग ऐसे हैं, जिनकी पारिवारिक जड़ें राजस्थान से हैं। इनमें भी अधिकांश लोग तो ऐसे हैं, जो विगत 40-50 वर्षों में ही राजस्थान से वहां जाकर बसे हैं।
अहमदाबाद, मेहसाणा, बनासकांठा, वड़ोदरा, आणंद, कच्छ, सुरेन्द्रनगर, राजकोट और सूरत में तो राजस्थान मूल के लोगों की आबादी करीब 25 से 50 प्रतिशत तक है। जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर संभाग और शेखावाटी क्षेत्र से वैश्य समुदाय और किसान समुदायों के लाखों परिवार गुजरात में रहते हैं।
मेडिकल और व्यापार के सिलसिले में एक लाख से अधिक राजस्थानी लोग रोजाना गुजरात आते-जाते हैं। ऐसे में यह राजस्थानी समुदाय को लुभाने के लिए हर चुनाव में कांग्रेस और भाजपा राजस्थानी राजनेताओं को गुजरात में प्रचार, दौरे, सभा आदि के लिए भेजती हैं।