May 28, 2024

अलमाती
उत्तर पश्चिमी कजाकिस्तान में एक यात्री बस में गुरुवार को आग लगने से 52 लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी देश के आपात सेवा मंत्रालय ने दी। मंत्रालय ने हालांकि आग लगने के कारणों के बारे में नहीं बताया है। बयान में मंत्रालय ने कहा, ’18 जनवरी को सुबह करीब साढ़े दस बजे एक बस में आग लग गई। बस में 55 यात्री और दो चालक थे।’ इसमें कहा गया, ‘पांच यात्रियों को चिकित्सा सहायता मुहैया कराई गई। शेष की मौत हो गई।’ कजाकिस्तान में गुरुवार को एक बस में लगी आग के चलते 52 लोग जिंदा जलकर मर गए। एशियाई देशों की इमरजेंसी सर्विस मिनिस्ट्री द्वारा जारी किए गए बयान में इसकी पुष्टि कर दी गई है। इस बस में 55 लोग सवार थे जिनमें से तीन बचकर निकलने में सफल रहे। बयान में कहा गया है कि हादसे में मरने वाले सभी लोग पड़ोसी मुल्म उज्बेकिस्तान के रहने वाले थे। खबरों को अनुसार ह दुर्घटना कजाकिस्तान के बाहरी इलाके अकतोब में हुई है। अकतोब क्षेत्र रूस के समारा शहर को कजाखिस्तान के शिमकेंट से जोड़ता है। यह तो स्पष्ट नहीं है कि बस किस दिशा में यात्रा कर रही थी, लेकिन इस मार्ग का इस्तेमाल व्यापक रूप से उज्बेक प्रवासी श्रमिक रूस आने-जाने के लिए करते हैं, जहां वे निर्माण स्थलों पर काम करते हैं। आंतरिक मंत्रालय के आपातकालीन विभाग ने एक बयान में कहा, जलती बस से केवल ती लोग ही अपनी जान बचाने में कामयाब रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि दुर्घटना स्थानीय सम अनुसार 10:30 पर हुई, लेकिन बस में आग कैसे लगी अबतक इसकी वजह साफ नहीं है। हादसे में बचे ड्रायवर के बयान के अनुसार बस में आग बहुत तेजी से फैली जिसके चलते लोगों को बचने का मौक ही नहीं मिला। कजाकिस्तान में एक बस में आग लगने से 52 लोगों की मौत हो गई है। कजाकिस्तान के आतंरिक मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है। मंत्रालय ने बताया, मारे गए सभी लोग पड़ोसी मुल्म उज़्बेकिस्तान के थे। ये दर्दनाक हादसा गुरुवार को कजाकिस्तान के बाहरी इलाके अकतोब में हुआ। अकतोब क्षेत्र रूस के समारा शहर को कजाखिस्तान के शिमकेंट से जोड़ता है। यह तो स्पष्ट नहीं है कि बस किस दिशा में यात्रा कर रही थी, लेकिन इस मार्ग का इस्तेमाल व्यापक रूप से उज़्बेक प्रवासी श्रमिक रूस आने-जाने के लिए करते हैं, जहां वे निर्माण स्थलों पर काम करते हैं। आंतरिक मंत्रालय के आपातकालीन विभाग ने एक बयान में कहा, जलती बस से केवल पांच लोग हीअपनी जान बचाने में कामयाब रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि दुर्घटना स्थानीय सम अनुसार 10:30 पर हुई, लेकिन बस में आग कैसे लगी अबतक इसकी वजह साफ नहीं है।