February 29, 2024

विधायक भंवर सिंह भाटी रहे नंबर वन, भाजपा के तीन विधायक भी पिछड़े
बीकानेर। चार साल का शासनकाल पूरा करने जा रही वसुंधरा सरकार के इस कार्यकाल में हमारे जिले के सातों विधायकों द्वारा विकास कार्यो पर खर्च की गई विधायक कोष की राशि के आंकड़े पर नजर डाले तो तीन विधायकों ने अपने कोष की सारी राशि खर्च कर दी है,जबकि नोखा विधायक एवं नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी अपने विधायक कोष की राशि में कंजूसी बरत रहे है,उनके कोष में तीन करोड़ की राशि जमा पड़ी है। इनके अलावा बीकानेर पश्चिम विधायक डॉ.गोपाल कृष्ण जोशी दो करोड़ तथा श्रीडूंगरगढ विधायक किशनराम नाई, एवं बीकानेर पूर्व विधायक सिद्धी कुमारी के कोष में डेढ करोड़ रूपये जमा है। विकास कार्यो में खर्च के मामले में श्रीकोलायत विधायक भंवर सिंह भाटी नंबर वन माने जा रहे है,अपनेे विधायक कोष की समूची राशि दो माह पहले ही खर्च कर चुके है। इनके बाद दूसरे नंबर पर लूणकरणसर विधायक मानिक चंद सुराणा तथा खाजूवाला विधायक डॉ.विश्वनाथ मेघवाल का नंबर है जो अपने विधायक कोष की तमाम राशि विकास कार्यो पर खर्च कर चुके है। गौरतलब है कि प्रत्येक विधायक को एक वर्ष में विधायक कोष के रूप में 2 करोड़ रुपए जारी किए जाते हैं। इस लिहाज से आंकड़ो पर नजर डाली जाये 13 दिसम्बर को राज्य सरकार के चार साल पूरे हो रहे हैं, वित्तीय वर्ष 2014-15, 2015-16, 2016-17 एवं 2017-18 में सभी विधायकों को दो-दो करोड़ के हिसाब से अब तक ५६ करोड़ तथा वित्तीय वर्ष 2016-17 में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के तहत प्रत्येक विधायक को 25 लाख रुपए का बजट अतिरिक्त जारी किया गया। इस प्रकार पिछले चार साल में जिले के सातो विधायकों को ६३ करोड़ विधायक कोष का बजट जारी किया जा चुका है। यह राशि सड़क,पानी,बिजली,सामुदायिक भवन समेत विकास की अनेक परियोजनाओं के तहत कराये जाने वाले कार्यो पर खर्च करनी थी,लेकिन विडम्बना है कि प्रदेश में विपक्ष की आवाज बुलन्द करने वाले नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ही अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास कार्यो में विधायक कोष की राशि खर्च करने से पिछड़ गये। वहीं राशि खर्च करने में कमजोर साबित हुए भाजपा के तीन विधायक किशनाराम, डॉ.गोपाल जोशी और सिद्धी कुमारी का कहना है कि क्षेत्र में विकास कार्यो की फेहरिश्त तैयार कर विधायक कोष की राशि खर्च कर दी जायेगी।