February 26, 2024

जयपुर। डाकघर अब समय के साथ अपनी नई भूमिका के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। इसी के तहत मंगलवार को राजस्थान के पहले पूर्ण रूप से डिजिटलाइज्ड डाक कार्यालय का उद्घाटन राजस्थान परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल, बृज बिहारी दवे एवं निदेशक दुष्यंत मुद्गल ने फीता काटकर किया। इस दौरान परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल बी बी दवे ने बताया कि 163 साल के सफर में डाक विभाग ने अपने आप को अपडेट किया है और आगे भी करेगा। डिजिटल इंडिया, वित्तीय समावेशन से लेकर न्यू इंडिया तक की संकल्पना को डाक विभाग मूर्त रूप दे रहा है। डाक विभाग की भूमिका सिर्फ चि_ी-पत्री, मनीऑर्डर तक सीमित नहीं रही बल्कि बैंकिंग, बीमा फिलेटली कैश ऑन डिलीवरी, पार्सल एवं माम प्रीमियम सेवाओं के साथ आधार कार्ड, पासपोर्ट और रोजगार पंजीकरण तक सभी कार्य आधुनिकतम तकनीकी सेवाओं के साथ डाकघरों में हो रहे हैं।
साथ ही परिमण्डल के डाक सेवा निदेशक दुष्यंत मुद्गल ने बताया कि कोर सिस्टम इंटीग्रेशन लागू हो जाने के बाद ग्राहकों एवं कर्मचारियों से संबंधित सभी सेवाएं ऑनलाइन पोर्टल पर आ जाएंगी, एवं जैसे ही देश के सभी पोस्टऑफिस कोर सिस्टम पर कार्य करना शुरू कर देंगे उसी समय से सभी सेवाओं को डाक विभाग की वेबसाइट से जोड़ दिया जाएगा जिससे ग्राहक घर बैठे बुकिंग से लेकर वितरण एवं वित्तीय समावेशन जैसे बैंकिंग, जीवन बीमा, एवं फिलैटली से संबंधित सभी उत्पाद सेवाओं का लाभ प्राप्त करेंगे। साथ ही निदेशक महोदय ने बताया कि अभी प्रथम फेज में राजस्थान का परिमण्डल कार्यालय, लेखा कार्यालय एवं रेल डाक सेवा का जयपुर मण्डल कोर सिस्टम इंटीग्रेशन के तहत कार्य करना शुरू करेगा। इसके बाद हम 23 जनवरी को जोधपुर क्षेत्रीय कार्यालय, पाली मण्डल, अजमेर क्षेत्रीय कार्यालय एवं अजमेर मण्डल को रोलआउट करेंगे। हमारा लक्ष्य है कि हम राजस्थान के सभी कार्यालयों को अप्रैल माह तक कोर सिस्टम इंटीग्रेशन से जोड़ दें।