April 14, 2024

(जी.एन.एस)जोधपुर .सर्दी का असर बढ़ गया है। सर्दी के मौसम में पटरी टूटने की घटनाएं और हादसे बढ़ जाते हैं। पटरी में फ्रैक्चर होने से संभावित रेल हादसों को रोकने के लिए जोधपुर रेल मंडल खास सतर्कता बरत रहा है। रेल हादसे रोकने के लिए जोधपुर रेल मंडल में 21 हजार से ज्यादा ठेकाकर्मी भर्ती किए जाएंगे। इस काम पर तीन माह में करीब 1.30 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। ज्ञात हो कि इसी सर्दी के सीजन की शुरूआत में जोधपुर मंडल में बीते 25 दिन में 7 जगह रेल पटरी टूटी मिली थी। इनमें से चार जगह गैंगमैन ने ट्रेन को रोका तो तीन जगह लोको पायलट की सजगता से दुर्घटनाएं टल गईं।
जोधपुर रेल मंडल के तीन जोन में प्रत्येक चार किलोमीटर के हिस्से की रेल लाइन के लिए एक श्रमिक नियुक्त किया जाएगा। जोधपुर मंडल में 1568 किमी ट्रैक की निगरानी के लिए तीन हजार से ज्यादा कर्मचारियों के पद स्वीकृत हैं। इनमें से 1177 पद खाली हैं। तीन माह तक चलने वाली इस व्यवस्था के लिए रेलवे इन्हें तीन दिन का प्रशिक्षण देगा, जिसमें बताया जाएगा कि पेट्रोलिंग करते समय क्या सावधानियां बरतनी हैं और पटरी टूटी दिखती है तो कैसे ट्रेन के लोको पायलट को सचेत करना है।