May 28, 2024

तिरुवनंतपुरम.तमिलनाडु के बाद चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ का असर केरल तट के पास ज्यादा देखा जा रहा है। साइक्लोन के चलते गुरुवार रात केरल-तमिलनाडु के कोस्टल डिस्ट्रिक्ट्स में तेज आंधी और बारिश हुई। तूफान की चपेट में आकर 9 लोगों की जान जा चुकी है। केरल और लक्षद्वीप के बीच समंदर में करीब 80 मछुआरों के फंसे होने की खबर है। उन्हें रेस्क्यू करने के लिए इंडियन नेवी, एयरफोर्स और कोस्ट गार्ड्स शुक्रवार को ऑपरेशन चला रहे हैं। ओखी के शनिवार को लक्षद्वीप से टकराने की उम्मीद है।

मछुआरों की तलाश में नेवी ने 5 शिप रवाना किए
– नेवी के मुताबिक, २ एयरक्राफ्ट्स ने समंदर में करीब 25 लोगों को फंसे देखा है। इनकी लोकेशन की जानकारी कोस्ट गार्ड्स और नेवी को दी गई है। राहत और बचाव के सामन के साथ दो शिप लक्षद्वीप में स्टैंडवाई पर रखे गए हैं।
– कोच्चि से नेवी के 5 शिप रेस्क्यू के लिए रवाना किए गए हैं। सर्च ऑपरेशन में नेवी और कोस्ट गार्ड्स के एयरक्राफ्ट्स की मदद ली जा रही है। नेवी के एक हेलिकॉप्टर के जरिए त्रिवेंद्रम से 20 नॉटिकल मीट दूर एमवी एनर्जी ओर्फियस के पास 8 लोगों को निकाला गया।
मछुआरों के फैमिली को सरकार ने कोई चेतावनी जारी नहीं की
– उधर, केरल पुलिस ने कहा कि समंदर में फंसे मछुआरों का सटीक आंकड़ा उनके पास नहीं है, लेकिन ये संख्या करीब १०० के आसपास हो सकती है।
– मछुआरों की फैमिली का आरोप है कि केरल सरकार की ओर से उन्हें तूफान की कोई चेतावनी नहीं दी गई।